जेएनएन, भुवनेश्वर : मलकानगिरी जिले में एक आदिवासी परिवार ने नक्सलियों के डर से अपना गांव-घर छोड़ दिया है। पीड़ित परिवार ने इस संदर्भ में जिले के मुदलीपड़ा थाना में शिकायत दर्ज कराने के साथ पुलिस अधीक्षक से सुरक्षा देने की गुहार लगायी है। पुलिस मामला दर्ज करने के बाद घटना की छानबीन कर रही है। घटना जिले के खइरपुट ब्लॉक अंतर्गत कुडुमुलुगुम्मा पंचायत के डाबूगुड़ा गांव की है।

घटनाक्रम के अनुसार, माओवादी नेता राकेश पिछले 28 अगस्त को पुलिस मुठभेड़ में मारा गया था। इस मुठभेड़ के पीछे इस परिवार का हाथ होने का संदेह प्रकट कर कुछ दिन पहले 50 से अधिक नक्सली गांव में पहुंचे और उक्त परिवार के घर में तोड़फोड़ करने के साथ प्रजा कोर्ट में उन्हें गांव छोड़ने का फरमान जारी किया था। यहां तक कि उन्हें फसल काटने से भी मना कर दिया था। इसी भय से उक्त आदिवासी परिवार के 6 सदस्य सोमवार को अपना गांव-घर छोड़कर अन्यत्र कहीं चले गए हैं। इनमें एक बच्चा भी शामिल है।

उल्लेखनीय है कि नक्सलियों के भय एवं धमकी मिलने के बाद अब तक इस गांव के लगभग 100 लोग अपना घर छोड़ने की बात सामने आयी है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस