भुवनेश्वर, जेएनएन। श्रीमंदिर के अन्दर टिक टॉक वीडियो बनाने एक नाबालिग लड़की को महंगा पड़ गया है। वीडियो बनाने वाली नाबालिग पुरी जिले के नीमापड़ा की रहने वाली है। सिंहद्वार थाना पुलिस ने उक्त लड़की को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। यह लड़की क्यों और किस लिए वीडियो बना रही थी, उसकी छानबीन भी पुलिस ने शुरू कर दिया है। उसके खिलाफ पुलिस ने 295ए, आईटी एक्ट 66 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। पुरी के अतिरिक्त एसपी ने कहा है कि नाबालिग के खिलाफ कानून के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

यहां उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पहले संपृक्त नाबालिग लड़की ने श्रीमंदिर भोगमंडप तथा आनंद बाजार दृश्य के पास  टिक टॉक वीडियो शूटिंग की थी। इसके बाद यह वीडियो को सोशल मीडिया में वायरल हो गया। वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने यह कार्रवाई की है।

यहां उल्लेखनीय है श्रीमंदिर के अन्दर किसी भी भक्त को मोबाइल ले जाने की अनुमति नहीं है। श्रीमंदिर के मुख्य द्वारा इसकी बकायदा जांच भी की जाती है। ऐसे में कड़ी सुरक्षा के बीच श्रीमंदिर के अंदर किस प्रकार से नाबालिग लड़की मोबाइल ले गई और वीडियो शूटिंग की और पुलिस प्रशासन को इसकी भनक भी नहीं लगी, इसे लेकर प्रशासनिक सुरक्षा व्यवस्था पर सवालिया निशान लगने लगा है।

 ओडिशा में चलती बस के खुले पहिये, नुआंपड़ा के तालाब में गिरी स्कूली वैन

गौरतलब है कि इससे पहले ओडिश में अस्पताल में नर्सो द्वारा टिक टॉक वीडियो को लेकर खबर आयी थी जिसमें नर्सो को नोटिस भी जारी किया गया था। ओडिशा के मलकानगिरी में मुख्य जिला चिकित्सा अधिकारी ने ड्यूटी के दौरान अस्पताल में कुछ नर्सों को चिकित्सा में लापरवाही बरतने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया था। दरअसल अस्पताल की इन नर्सो ने ड्यूटी के दौरान टिकटॉक वीडियो बनाया था। 

 सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस टिकटॉक वीडियो में अस्पताल की नर्से अपने यूनिफॉर्म में ही नाच गा रही थी, वीडियो में वार्ड में मौजूद पलंग पर बैठे मरीज भी नजर आ रहे थे। 

Maharashtra: 50-50 के फॉर्मूले पर बोले संजय राउत, अपने रुख से पीछे नहीं हटेंगे

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस