जासं, भुवनेश्वर : ओडिशा में माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित मैट्रिक की परीक्षा बुधवार से शुरू हो गई है। राज्य के कुल 2888 परीक्षा केंद्रों में कड़ी निगरानी में 5 लाख 60 हजार 905 परीक्षार्थी इस परीक्षा में शामिल होंगे। मैट्रिक बोर्ड की परीक्षा प्रारंभ होने से पहले मुख्यमंत्री नवीन पटनायक एवं केंद्रीय पेट्रोलियम एवं इस्पात मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने परीक्षार्थियों को शुभकामना दी है। मुख्यमंत्री ने अपने ट्वीट में लिखा है कि 10वीं बोर्ड परीक्षा देने वाले सभी छात्र-छात्राओं को मेरी शुभकामना। बच्चों के उज्ज्वल भविष्य के साथ उनकी सफलता की मैं कामना करता हूं। केंद्रीय मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने भी ट्वीट कर सभी छात्र-छात्राओं को हाíदक शुभकामना दी है। लिखा है, मैं छात्रों की सफलता की कामना करता हूं।

बुधवार को शुरू हुई मैट्रिक परीक्षा में पहले दिन मातृभाषा ओडिया की परीक्षा हुई। इस दौरान राजधानी भुवनेश्वर सहित राज्य के तमाम जिलों में शांतिपूर्ण एवं कदाचार मुक्त परीक्षा संपन्न करने त्रिस्तरीय जांच के बाद परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्र में प्रवेश दिया गया। केंद्र के बाहर स्थानीय पुलिस-प्रशासन के साथ शिक्षा अधिकारी उपस्थित रहकर परीक्षा का संचालन करते नजर आए। परीक्षा का पहला दिन होने से परीक्षा केंद्रों को सुबह नौ बजे ही खोल दिया गया था। प्रश्नपत्र रखने के लिए प्रदेश में 307 नोडल सेंटर बनाए गए हैं। संवेदनशील एक हजार परीक्षा केंद्रों में सीसीटीवी कैमरे के जरिये हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है।

कालाहांडी में वायरल हुआ प्रश्नपत्र

कड़ी सुरक्षा के बीच बुधवार से शुरू हुई मैट्रिक परीक्षा में पहले ही दिन राज्य के कालाहांडी जिला में मातृभाषा ओड़िया का प्रश्नपत्र वायरल होने का आरोप सामने आया। परीक्षा शुरू होने के एक घंटे के अंदर ही जिले के धर्मगड़ इलाके में प्रश्नपत्र मातृभाषा ओड़िया का प्रश्नपत्र एक मोबाइल से दूसरे मोबाइल नंबर पर घूमने का आरोप लगा है। वायरल प्रश्नपत्र में एक नंबर वाले 25 प्रश्न हैं। इस संदर्भ में मंत्री समीर दास ने कहा कि हमें ऐसी कोई खबर नहीं मिली है। प्रश्नपत्र वायरल हुआ है तो उसकी जांच की जाएगी और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस