संसू, भुवनेश्वर : आम चुनाव में करारी हार का कारण खोजने के लिए काग्रेस की तरफ से विधायकों के नेतृत्व में छह सब कमेटियों को गठन किया गया है। सब-कमेटी-1 के संयोजक सानखेमंडी के विधायक रमेश चंद्र जेना बनाए गए हैं। इनका सहयोग करने प्रदेश कांग्रेस कमेटी के यज्ञेश्वर बाबू, आर्य कुमार ज्ञानेन्द्र को नामित किया गया है। यह कमेटी मलकानगिरी, कोरापुट, रायगड़ा और गजपति जिलों का दौरा कर इन जिलों से जुड़े लोकसभा व विधानसभा क्षेत्रों के हार की समीक्षा करेगी। इसी तरह सब-कमेटी-2 में कटक बारबाटी के विधायक मोहम्मद मुकीम के नेतृत्व में वरिष्ठ नेता गणेश्वर बेहरा एवं महिला काग्रेस की अध्यक्ष वंदिता परिडा को गंजाम, कंधमाल, पुरी, खुर्दा और नयागड़ जिलों में हार का कारण खोजने की जिम्मेदारी दी गई है। सब-कमेटी-3 विधायक तारा प्रसाद वाहिनीपति की अगुवाई में पूर्व विधायक भुजबल माझी एवं पीसीसी उपाध्यक्ष शिवानन्द राय कालाहांडी, नुआपड़ा, सोनपुर, बलांगीर और बौद्ध जिले का दौरा कर कांग्रेस की दुर्दशा का कारण तलाशेंगे। सब कमेटी-4 पूर्व विधायक जार्ज तिर्की के नेतृत्व में बरगढ़, संबलपुर, अनुगुल, देवगढ़ और झारसुगुड़ा में हार की समीक्षा करेगी। तिर्की का सहयोग सत्यशिव दास और ज्ञानदेव बेहरा करेंगे।

इसी तरह सब-कमेटी-5 संयोजक कांटाबांजी के विधायक संतोष सिंह सलूजा के साथ बटकृष्ण त्रिपाठी और नलिनीकांत महांती सुंदरगढ़, क्योंझर, मयूरभंज, बालासोर और भद्रक जिला की समीक्षा करेंगे। जबकि सब-कमेटी-6 संयोजक जटनी के विधायक सुरेश कुमार राउतराय के नेतृत्व में जाजपुर, केंद्रपाड़ा, जगतसिंहपुर, कटक और ढेंकानाल जिले में कांग्रेस की हार का कारण खोजेगी। इन सभी को क्षेत्रवार समीक्षा कर 30 जून तक अपनी रिर्पोट देने को कहा गया है।

Posted By: Jagran