जागरण संवाददाता, भुवनेश्वर : राज्य के ढेंकानाल जिला में वकीलों द्वारा जिलाधीश की अनुपस्थिति में उनके कक्ष में अंडा और टमाटर फेंके जाने की घटना सामने आयी है। इससे करीब एक घंटे तक जिलाधीश कार्यालय में उत्तेजना का माहौल बना रहा। अतिरिक्त जिलाधीश के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हुआ। घटना गुरुवार सुबह की है।

घटनाक्रम के अनुसार, जिला मुख्य अस्पताल में मौजूद समस्या, यातायात व्यवस्था सुधारने, दुर्घटना में मरने वाले वकील संजीत साहू के परिजन को 10 लाख रुपये मुआवजा आदि मांग को लेकर जिले के वकील, संघ कार्यालय से रैली निकालकर जिलाधीश का घेराव करने उनके कार्यालय पहुंचे थे। जिलाधीश कार्यालय पहुंचने के बाद वकीलों का दल नारेबाजी करते हुए डीएम कक्ष में घुसने का प्रयास किया। इस दौरान वहां तैनात सुरक्षा कर्मियों ने वकीलों को बताया कि साहब दफ्तर में नहीं है। इसके बावजूद वकील नहीं माने और अंदर जाने की कोशिश की। इस पर सुरक्षा कर्मियों ने उन्हें रोका तो वकील डीएम कक्ष में अंडा और टमाटर फेंकने लगे। इससे वहां करीब एक घंटे तक उत्तेजना का माहौल रहा। बाद में अतिरिक्त जिलाधीश अवनीकांत पटनायक ने वकीलों से वार्ता की। आगामी 30 अगस्त को उनकी समस्या पर उत्तरांचल राजस्व कमिश्नर के साथ ढेंकानाल में चर्चा करने का आश्वासन प्रशासन की ओर से दिए जाने के बाद वकील शांत हुए और अपना आंदोलन समाप्त किया।

इस प्रदर्शन में संघ के अध्यक्ष शिवसाई महापात्र, उपाध्यक्ष सरोज कुमार पाढ़ी, सचिव टंकधर बेहरा एवं पूर्व अध्यक्ष संजय कुमार मिश्र समेत दर्जनों वकील शमिल थे।

Posted By: Jagran