भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता। विवादित कोटिया ग्राम समूह के कई गांवों को आन्ध्र द्वारा अपने गांव बताकर लोगों को बरगलाने का एक और उदाहरण सामने आने से मामला फिर से गर्म हो गया है। सफलता पूर्वक पंचायत चुनाव करवा लेने वाले आन्ध्र ने अब वहां जिला परिषद चुनाव कराने की कोशिश शुरु कर दी है। आंध्र द्वारा 8 तारीख को जिला परिषद व मंडल चुनाव करवाने की घोषणा की गई है इसे लेकर भारतीय जनता पार्टी ने जिला प्रशासन के कार्यशैली पर प्रश्न उठाया है। पड़ोसी आंध्र प्रदेश ने कोटिया इलाके के तलगंज ई पदर गांव को गंजेई भाद्रा नामित किया गया है और पाटुचेनुरु को भी अपना इलाका बताया जा रहा है। 

 इसे लेकर भाजपा ने प्रदेश सरकार को आड़े हाथों लिया है। भाजपा नेता जयराम पांगी का कहना है कि आंध्र प्रदेश जबरन अपने मनमानी कर रहा है जिसे रोकने के लिए जिला प्रशासन को सभी का सहयोग लेना चाहिए भाजपा नेता ने कहा कि ये ग्राम ओडिशा का है और ओडिशा  का ही है रहने वाला है आन्ध्र प्रशासन कितनी भी कोशिश कर ले कुटिया ग्राम पुंज को ओडिशा से कोई अलग नहीं कर सकता। उन्होंने स्थानीय प्रशासन पर आरोप लगाया कि कोटिया विवाद जैसे संवेदनशील मुद्दे पर प्रशासन सभी को विश्वास में लेकर काम नहीं कर रही है। भाजपा नेता ने कहा अगर प्रशासन चाहे तो हम सब मिलकर उनकी मदद करने को तैयार हैं।

गौरतलब है कि इस मामले को लेकर राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर किया है। ओडिशा सरकार द्वारा प्रस्तुत हलफनामे में कहा गया है कि कोटिया ग्राम पूंज इलाके में पड़ोसी आंध्र प्रदेश द्वारा जबरन कब्जा जमाने की कोशिश बहुत पुरानी है। सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में दायर 500 पृष्ठ के हलफनामे में क्रमानुसार राज्य सरकार के रिकार्ड्स दर्शाए गए हैं।

इस हलफनामे में यह भी कहा गया है कि कोटिया ग्राम पुंज में ओडिशा सरकार द्वारा 2009 में पुलिस थाने की स्थापना की गई थी ताकि इलाके में प्रशासनिक व्यवस्था को दुरुस्त किया जा सके। हलफनामे में यह भी दर्शाया गया है कि पड़ोसी आंध्र प्रदेश हर बार कोटिया ग्राम पंचायतों ने जबरन चुनाव कराने की कोशिश करता है और चुनाव आयुक्त के हस्तक्षेप के बाद वहां पर चुनाव बंद हो किए जाते हैं। इसके प्रमाण स्वरूप सन 1966 में स्थानीय निकाय चुनाव को लेकर राज्य के चुनाव अधिकारी द्वारा आंध्र प्रदेश के चुनाव अधिकारी को लिखा गया पत्र संलग्न किया गया है। हलफनामे में कहा गया है कि जिन इलाकों को आंध्र प्रदेश अपना बता रहा है वह वास्तव में ओडिशा में है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021