भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता। ओडिशा में कम दबाव का क्षेत्र सक्रिय है। ऐसे में इसके प्रभाव से राज्य के विभिन्न जिलों में बारिश का दौर जारी है। वहीं आगामी 25 सितम्बर को और एक कम दबाव का क्षेत्र बनने की सम्भावना है, जिसके प्रभाव से प्रदेश में 26 सितम्बर से भारी बारिश होने की सम्भावना मौसम विभाग ने जतायी है। हालांकि मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि प्रदेश में फिलहाल बाढ़ की कोई संभावना नहीं दिख रही है।

वहीं कम दबाव के प्रभाव से लगातार हो रही बारिश के बावजूद राज्य के 12 प्रतिशत कम बारिश हुई है। 19 जिले में स्वभाविक बारिश हुई है। भुवनेश्वर क्षेत्रीय मौसम विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक कम दबाव के प्रभाव से तटीय एवं उत्तर तटीय ओडिशा में भारी बारिश होने की सम्भावना है।

 बाढ़ की सम्भावना नहीं

यहां उल्लेखनीय है कि इसी महीने प्रदेश को दो-दो कम दबाव का क्षेत्र बनने का सामना करना पड़ रहा है। राज्य में वर्तमान समय मानसून ट्रापलाइन के साथ ही कम दबाव का क्षेत्र सक्रिय है। इसके प्रभाव से आज भी विभिन्न जगहों पर बारिश हो रही है। आज अंदरूनी एवं दक्षिण ओडिशा के 12 जिलों में पीली चेतावनी जारी की गई है। इसके बाद पुन: 26 सितम्बर को और एक कम दबाव क्षेत्र बनने की सम्भावना है, जिसके प्रभाव से प्रदेश में बारिश होगी। हालांकि प्रदेश में आगामी दिनों में फिलहाल बाढ़ की सम्भावना नहीं होने की जानकारी मौसम विभाग की तरफ से दी गई।

19 जिलों में स्वभाविक बारिश

मौसम विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश में अब तक 12 प्रतिशत कम बारिश हुई है। 19 जिलों में स्वभाविक बारिश हुई है। उत्तर ओडिशा के बालेश्वर, भद्रक, मयूरभंज, केन्दुझर एवं सुन्दरगड़ जिलों बारिश जारी है। अंदरूनी ओडिशा के कुछ जिलों में भी बारिश जारी है। सुबह के समय सेटेलाइट से लिए गए चित्र से पता चला है कि उक्त इलाकों में बारिश हो रही है, यह जानकारी मौसम विभाग ने ट्वीट कर दी है।

Edited By: Babita Kashyap