जागरण संवाददाता, भुवनेश्वर। ओडिशा में सड़क दुर्घटना में बकरी की मौत से महानदी कोलफील्ड्स लिमिटेड (एमसीएल) को 2.68 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। साथ ही, सरकार को टैक्स के रूप में मिलने वाले 46 लाख रुपये का घाटा हुआ है।

दरअसल, तालचेर कोयला क्षेत्र में सोमवार को कोयला ढोने वाले एक वाहन, टिपर (डंपर) की चपेट में आने से एक बकरी की मौत हो गई। उसके बाद स्थानीय लोगों ने 60 हजार रुपये मुआवजे की मांग को लेकर सुबह 11 बजे कोयले की ढुलाई रोक दी। लोगों ने जमकर प्रदर्शन किया। पुलिस के हस्तक्षेप से लगभग साढ़े तीन घंटे बाद ढाई बजे दोबारा कोयले की ढुलाई शुरू हुई।

कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि साढ़े तीन घंटे ढुलाई नहीं होने से साइडिंग तक कोयला नहीं पहुंच पाया। इससे अनुमानित 1.4 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ, जबकि रेलवे का रैक तैयार नहीं होने 1.28 करोड़ रुपये का घाटा हुआ। कुल मिलाकर कंपनी को लगभग 2.68 करोड़ रुपये का घाटा हुआ। कंपनी ने गैर कानूनी तरीके से काम बाधित करने वालों के खिलाफ स्थानीय थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाई है। मामले की जांच-पड़ताल जारी है। अभी तक इस संबंध में किसी की शख्स की गिरफ्तारी नहीं गो पाई है। इस मामले की जांच-पड़ताल के बाद भी आरोपियों की गिरफ्तारी होने की संभावना है। गौरतलब है कि इस हादसे से जहां लोगों में भारी रोष है, वहीं कंपनी को भारी आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ा है। 

प्रतिबंधित क्षेत्र में स्थित है दुर्घटनास्थल

कंपनी ने जारी बयान में कहा है कि दुर्घटनास्थल प्रतिबंधित क्षेत्र में आता है। इस क्षेत्र में केवल कंपनी द्वारा अधिकृत व्यक्ति ही जा सकता है, लेकिन स्थानीय लोग जान-बूझकर परिवहन के दौरान सड़क पर गिरने वाले कोयले को चुनने के लिए प्रतिबंधित क्षेत्र में चोरी-छिपे आते हैं। साथ ही, पशुधन को चराते हैं।

ओडिशा की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस