भुवनेश्वर, जेएनएन। पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत के प्रतिवाद में कांग्रेस की तरफ से आहूत भारत बंद को राज्य में पूरी तरह से सफल बनाने के लिए कांग्रेस पार्टी के नेता एवं कार्यकर्ताओं ने कमर कस ली हैं। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष निरंजन पटनायक ने स्पष्ट किया है कि सोमवार को विधानसभा की कार्यवाही

में कांग्रेस के विधायक भाग नहीं लेंगे। इसके अलावा उन्होंने राज्य सरकार से भी अनुरोध किया है कि वे सदन की कार्यवाही को शाम तीन बजे तक मुल्तवी घोषित कर दें।

वहीं कांग्रेस द्वारा बुलाए गए भारत बंद में समाजवादी पार्टी व वामपंथी दल शामिल हो गए हैं, हालांकि शासक बीजद जो कि पिछले तीन दिन से पेट्रोल पंप के सामने धरना दे रही है, बंद से खुद को दूर रखा है। कांग्रेस की तरफ से कहा गया है कि लगातार पेट्रोल एवं डीजल के दर आसमान छूते जा रहे हैं, गैस के दाम बढ़ रहे हैं, मगर केंद्र सरकार को यह सब दिखाई नहीं दे रहा है। यह सरकार पूंजीपतियों की सरकार है। ऐसे में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने बंद को पूरी तरह से सफल बनाने के लिए लोगों से समर्थन देने का आह्वान किया है। वहीं बालेश्वर में 10 सितंबर को 12 घंटे वाले बंद को सफल बनाने के लिए वामपंथी दलों की संयुक्त बैठक में निर्णय लिया गया है।

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद हर दिन तेल के दर बढ़ रहे हैं। पेट्रोल एवं डीजल प्रति लीटर 80 रुपये के पार कर गया है। रसोई गैस 900 रुपये में मिल रही है। भारतीय रुपये गिर रहा है। विदेशों में कालाधन बढ़ रहा है। नोटबंदी एवं देश में एक शुल्क व्यवस्था के लिए लाई गई जीएसटी एक मजाक बन कर रह गया है। किसान आत्महत्या कर रहे हैं। ऐसे में देश एवं राज्य की जनता की इस हड़ताल को अपना पूर्ण समर्थन देगी और सुबह छह बजे से शाम छह बजे तक हड़ताल जारी रहेगा।

कटक नगर कांग्रेस अध्यक्ष मो. मुकीम ने कहा है कि इस बंद के बाद केंद्र सरकार को यह अहसास हो जाएगा कि लोगों में कितना आक्रोश है। उन्होंने बंद को पूरी तरह से सफल बनाने के लिए राज्य के तमाम व्यापारिक अनुष्ठान, शिक्षण संस्थान से अनुरोध किया है।

Posted By: Babita