भुवनेश्वर, जेएनएन। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थि 22 अगस्त को ओडिशा आएगी तथा राज्य की विभिन्न पवित्र नदियों में पूर्व प्रधानमंत्री की अस्थियों को विसर्जित किया जाएगा। बुधवार को भाजपा राज्य कार्यालय में अस्थि पहुंचने के बाद 23 अगस्त को श्रीक्षेत्र धाम पुरी के महोदधि में अस्थि का विसर्जन किया जाएगा। इससे पहले लोग भाजपा राज्य कार्यालय में अस्थि का दर्शन कर पूर्व प्रधानमंत्री को श्रद्धांजलि दे सकेंगे।

जानकारी के मुताबिक 23 अगस्त को पार्टी कार्यालय से एक विशाल रैली में वाजपेयी की अस्थि को भुवनेश्वर से पुरी ले जाया जाएगा। एक खुले सुसज्जित ट्रक में अजातशत्रु अटल जी की अस्थि को पुरी समुद्र की तरफ ले जाने का भी कार्यक्रम है।

शोभायात्रा पुरी पहुंचने के बाद वाजपेयी की अस्थि को समुद्र में विसर्जित किया जाएगा। इसके अलावा राज्य की विभिन्न नदियों जैसे महानदी, वैतरणी, ब्राह्माणी, ऋषिकुल्य और काठजोड़ी में भी बिहारी वाजपेयीजी की अस्थि का विसर्जन किए जाने का कार्यक्रम है। उल्लेखनीय है कि भारत रत्न वाजपेयीजी का 16 अगस्त को एम्स में निधन हो गया था। उनकी अस्थियां उत्तर प्रदेश, आंध्र, गुजरात, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, पंजाब और तेलंगाना सहित अन्य राज्यों की 100 पवित्र नदियों में विसर्जित की जाएंगी।