भुवनेश्वर, जेएनएन। ओडिशा क्रिकेट एसोसिएशन (ओसीए) के पूर्व सचिव आशीर्वाद बेहेरा को सीबीआइ ने अर्थतत्व चिटफंड मामले में गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही होटल मालिक कमलाकांत दास को भी सीबीआइ ने गिरफ्तार किया है। 

इस बीच, भुवनेश्वर की एक अदालत ने आशीर्वाद बेहेरा की जमानत याचिका खारिज कर कर उसे एक अक्टूबर, 2019 तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया। 

जानकारी के मुताबिक गुरुवार भोर के समय सीबीआइ की टीम ने आशीर्वाद बेहेरा के घर पर छापा मारने के साथ उन्हें गिरफ्तार किया है। आशीर्वाद बेहेरा के नाम पर पहले से ही सीबीआइ की तरफ से चार्जशीट दाखिल की गई थी।

कुछ पहले अर्थतत्व चिटफंड मामले में सीबीआइ ने अदालत में चार्जशीट दाखिल की थी। आशीर्वाद बेहेरा के साथ अन्य दो लोगों के नाम पर यह चार्जशीट दाखिल की गई थी। अन्य दो लोगों में खारवेल नगर थाना के पास मौजूद होटल सोलान इनर के मालिक कमलाकांत दास तथा एटी ग्रुप के निदेशक संबित खुंटिया शामिल हैं। संबित को 16 अगस्त 2014 को खुर्दा बाटमंगला हाउसिंगबोर्ड में मौजूद उनकेघर से सीबीआइ ने गिरफ्तार किया था जबकि कमलाकांत एवं आशीर्वाद बेहेरा को उस समय पूछताछ कर छोड़ दिया था। इस मामले में सीबीआइ ने पहले ही आठ कंपनी एवं 33 अभियुक्त केखिलाफ छह चार्जशीट एवं चार अतिरिक्त चार्जशीट दाखिल कर चुकी है।

आशीर्वाद के पुत्र संजय बेहेरा की प्रतिक्रिया

अर्थतत्व चिटफंड मामले में गिरफ्तार होने वाले आशीर्वाद बेहेरा के संदर्भ में उनके बेटे संजय बेहेरा ने प्रतिक्रिया दी है। संजय ने कहा है कि पिता की गिरफ्तारी ओडिशा क्रिकेट एसोसिएशनस (ओसीए) के चुनाव को देखते हुए की गई है। अर्थतत्व घटना में सीबीआइ ने कुछ ही दिन पहले चार्जशीट दाखिल की थी और रातों रात षडयंत्र कर उन्हें गिरफ्तार किया गया है। संजय बेहेरा ने कहा है कि 27 सितम्बर को ओडिशा क्रिकेट एसोसिएशन का चुनाव होने वाला है। ऐसे हम पर दबाव बनाने के लिए पिताजी की गिरफ्तारी की गई है। चुनाव में हारने के डर से कुछ लोग इस तरह का षडयंत्र कर रहे हैं। इससे हमारा मनोबल टूटने के बजाय और मजबूत होगा। मैं 20 सितम्बर को अपना नामांकन भरूंगा। 

सहयोगी बने षडयंत्रकारी 

संजय ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अतीत में जो लोग कभी सहयोगी हुआ करते थे, वे अब षडयंत्रकारी बन गए हैं। इन लोगों के हीन मनोभाव को ओडिशा के लोग कभी माफ नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि ओडिशा प्रीमियर लीग (ओपीएल) में अर्थतत्व के धन लगाने की बात सभी को पता है। आज सुबह सीबीआइ के 15 से 20 सदस्य अचानक घर पहुंचे और अदालत का वारंट दिखाकर उन्हें गिरफ्तार किया है। संजय बेहेरा ने कहा है इस गिफ्तारी से मैं टूटने वाला नहीं हूं, इससे मैं और मजबूत हुआ हूं। हम जितने वोट से जीतने वाले थे अब उससे अधिक वोट से हम जीतेंगे। भगवान का आशीर्वाद मेरे ऊपर है, मैं चुनाव लड़ूंगा, और अपना पर्चा दाखिल करूंगा। 

यहां उल्लेखनीय है कि अर्थतत्व चिटफंड मामले में सीबीआइ ने ओसीए के पूर्व सचिव आशीर्वाद बेहेरा तथा होटल के मालिक कमलाकांत दास को गिरफ्तार किया है। इसके बाद आशीर्वाद बेहेरा केबेटे ने उपरोक्त प्रतिक्रिया दी है।

20 हजार सरकारी कर्मचारियों ने लिया इस खास योजना का लाभ, अब वसूली के लिए सरकार सख्त

Maharashtra Elections 2019: 50-50 पर अड़ी शिवसेना, नहीं तो तोड़ देगी गठबंधन

 

Posted By: Babita kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप