भुवनेश्वर, जेएनएन। विधानसभा में बुधवार को मानसून सत्र के दूसरे दिन विरोधी दलों के हंगामे के बीच वित्तमंत्री शशि भूषण बेहेरा ने सदन में वर्ष 2018-19 साल के लिए 12790 करोड़ रुपये का अंतरिम बजट पेश किया।

बजट में कार्यक्रम व्यय 9611 करोड़, प्रशासनिक व्यय 1800 करोड़, शिक्षा सहायकों को नियमित करने के लिए 750 करोड़, ब्याज राशि जमा करने के लिए 350 करोड़, जगा मिशन योजना के लिए 100 करोड़, शक्ति विभाग के लिए 289 करोड़, प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए 1500 करोड़, समन्वित शिशु विकास योजना के लिए 80 करोड़, बसुधा योजना के लिए 400 करोड़, बीजू ग्राम योजना को 75 करोड़, स्वच्छ भारत मिशन को एक हजार करोड़, मेक इन ओडिशा कनक्लेव के लिए 12 करोड़, आम घर एलईडी के लिए 100 करोड़, जनशिक्षा विभाग के लिए 1210 करोड़, आपदा प्रबंधन के लिए 1364 करोड़, संपूर्णा योजना के लिए 62 करोड़, मुख्यमंत्री महिला सशक्तीकरण योजना के लिए 50 करोड़, राजधानी में विभिन्न प्रोजेक्ट के लिए 68 करोड़, कृषि विभाग के लिए 236 करोड़, मधु बाबू पेंशन योजना के लिए 25 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। चुनाव संचालन के लिए 41 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। बजट में शहरांचल आधारभूमि के विकास पर विशेष ध्यान दिया गया है। इस मौके पर वित्तमंत्री शशिभूषण बेहेरा ने अर्थनीति को त्वरान्वित करने पर बल देने पर जोर दिया।