बालेश्वर, जागरण संवाददाता। पूरे विश्व में आज यदि किसी महत्वपूर्ण चीज की चर्चा हो रही है तो वह है कोरोना यह एक ऐसा मर्ज बन चुका है। जिसके चपेट में आने वाला व्यक्ति या उसका परिवार शायद ही फिर से नया जीवन पाए इन सबके बीच आज कोई देश ना किसी देश को सहयोग कर पा रहा है न कोई व्यक्ति किसी व्यक्ति की सहायता कर पा रहा है। इन सबके बीच विगत 2 महीनों से समाज में रहने वाले आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के चेहरे पर खुशी फैला रही है।  बालेश्वर की जानी मानी समाजसेविका अंकिता। 

 जागरण से बातें करते हुए अंकिता ने बताया कि छोटा सा सहयोग भी किसी साधारण व्यक्ति के चेहरे पर चमक ला सकता है। अपनी ओर से शुरु किया गया प्रयास इस समाज में बन सकता है। प्रेरणा का स्रोत आपको देखकर तथा आपके कार्यकलापों को देखने के बाद कोई दूसरा व्यक्ति भी इसे सीख समझ कर दूसरों के लिए आशीर्वाद बन सकता है। घर के भीतर रहकर भी हम दूसरों के लिए बहुत कुछ कर सकते हैं। आइए मिलकर बनाएं एक स्वच्छ और स्वस्थ समाज तथा देश जिसमें सभी वर्ग के लोगों को रहने और जीने का हो समान अधिकार इस तरह का वक्तव्य देकर अंकिता ने एक और जहां अपने शक्तिशाली मानसिकता का परिचय दी है। वहीं दूसरी ओर समाज में रहने वाले दीन दुखियों को भरपेट भोजन कराकर अपने कर्तव्य का पालन भी कर रही है। 

अंकिता की चर्चा आज पूरे शहर में होने लगी है क्योंकि केवल करुणा के समय में ही नहीं बल्कि किसी भी प्राकृतिक आपदा के समय में अंकिता का सहयोग किसी से छिपा नहीं है। चाहे प्राकृतिक आपदा के समय लोगों को खिचड़ी बांटना दाल चावल बांटना या ठंड के मौसम में मंदिरों के सामने बैठने वाले कमजोर वर्ग के लोगों के बीच कंबल बांटना, यह मानो उनका एक नशा है किसी भी साधारण व्यक्ति को देखने के बाद उसकी दशा को सुधारने का एक प्रयास करती हैं। कोरोना  जैसे महामारी के समय में भी आज विगत 2 महीने से भी अपने घर पर कई भूखे लोगों का पेट भर कर वह अपने आपको धन्य मानने लगी हैं। इस समाज देश दुनिया के लिए मानो अंकिता प्रेरणा का स्रोत बन चुकी है।

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस