भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता। ओडिशा विधानसभा की कार्यवाही आज लगातार चौथे दिन भी नहीं चल सकी है। ममिता मेहर हत्याकांड मामले को लेकर विरोधी दल के नेताओं का हंगामा आज भी सदन में देखने को मिला है। प्रश्नकाल के आरंभ से विरोधी दल के विधायक विधानसभा अध्यक्ष के पोडियम के पास आ गए और घंट-घंटा बजाकर सदन में हंगामा किया। विधानसभा अध्यक्ष सूर्य नारायण पात्र के बारंबार अनुरोध के बावजूद विरोधी दल के नेताओं का हंगामा बंद नहीं हुआ। इससे विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही को अपराह्न 4 बजे तक के लिए मुलतवी घोषित कर दिया। सदन की कार्यवाही को स्थगित करते हुए विधानसभा अध्यक्ष ने कहा है विधानसभा में नाटक का स्थान नहीं है।

जानकारी के मुताबिक ब्राह्मण का वेश धारण कर सदन में पहुंचे कांग्रेस विधायक तारा प्रसाद वाहिनीपति ने कहा है कि शिक्षिका ममिता मेहर हत्याकांड में संपृक्त मंत्री दिव्य शंकर मिश्र विधानसभा में आ रहे हैं। ओडिशा के 4 करोड़ 50 लाख लोगों के लिए विधानसभा मंदिर है। मंत्री मिश्र के सदन में आने से यह मंदिर अपवित्र हो गया है। ऐसे में हमने सदन के अन्दर आज ओम शांति का स्‍लोगन देते हुए गंगा जल में तुलसी, गो मूत्र मिलाकर छिड़काव किया है। मंत्री को मंत्रिमंडल से तुरन्त बहिष्कार किया जाना चाहिए। वहीं विरोधी दल के उप सचेतक ने कहा है कि जब तक मंत्री को बहिष्कार नहीं किया जाता है या फिर मामले की जांच सीबीआइ से कराने की सिफारिश नहीं होती है, हमारा प्रदर्शन जारी रहेगा।

कांग्रेस एवं भाजपा की तरफ से किए जा रहे विरोध प्रदर्शन पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए बीजद विधायिका स्नेहांगिनी छुरिया ने कहा है कि यह विरोधीदल का ड्रामा है। ममिता मेहर हत्या से हम सब दुखी हैं। खुद मुख्यमंत्री ने कहा है कि ममिता को न्याय मिलेगा और दोषी को सजा मिलेगी। विरोधी दल के नेता सदन में नौटंकी कर रहे हैं।

Edited By: Babita Kashyap