भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता। राजधानी भुवनेश्वर के उप-नगरीय जरीपुट इलाके में जंगली हाथियों का एक झुंड देखा गया है। यह इलाका खुर्दा शहर से सटा हुआ है। स्थानीय लोगों के अनुसार हाथियों के इस झुण्ड में 18 हाथी शामिल है और इनका एक बड़ा झुंड है। हाथियों के इस झुंड के दहशत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि यह झुंड आज खुर्दा मुख्य अस्पताल परिसर में घुस आया था। वन विभाग के कर्मचारी हाथियों की गतिविधि पर नजर रखे हुए हैं। लेकिन हाथियों का झुंड उनके नियंत्रण में नहीं आ रहा, जिससे स्थानीय लोग काफी आशंकित हैं। 

  धान के पकने के समय पर आमतौर पर हाथियों का झुंड जंगल से निकलकर खेतों की ओर चला आता है। यह हाथियों का दल चन्दका जंगल से आया है, ऐसा बताया जा रहा है। लोगों के अनुसार जरीपुट, सरधापुर, बेरुहां गांव के इर्द-गिर्द यह झुंड फसल उजाड़ रहा है। वन विभाग द्वारा सर्च लाइट जलाकर झुंड को जंगल की ओर भेजने की कोशिश की गई मगर यह बेकार साबित हुई है। हाथियों के इस झुंड को लेकर खुर्दा शहर और आस-पास के गांव में लोग आतंकित हैं।

गौरतलब है कि ओडिशा के खुर्दा में एक माह पहले भी 28  हाथियों के झुंड ने जमकर आतंक मचाया था। हाथियों के इस झुंड ने पहले खुर्दा  के बेगुनिया ब्लाक गोड़ा एवं काइपदर इलाके में फसलों को बर्बाद किया था उसके बाद जनबस्ती इलाके की ओर बढ़ गया था। इससे लोगों में भय का माहौल पैदा हो गया था। लोगों ने वन विभाग को सूचित किया था जिसके बाद वन विभाग की टीम ने मौके पर पहुंचकर वहां से हाथियों  को  खदेड़ा।    

हाथियों के इस झुंड ने पान की घेरी में घुसकर पान की फसल को पूरी तरह से बर्बाद कर दिया था। शहर के रिहायशी इलाके में हाथियों के झुंड को देखकर स्थानीय लोग सहम गए थे। हाथियों के इस झुंड ने खुर्दा के पास काइपदर, दलक, माधपुर, गोड़ा गांव में उत्पात मचाना शुरु कर दिया था। बता दें कि जंगलों की कटाई होने से हाथियों का झुंड अब रिहायशी इलाकों की तरफ भोजन की खोज में आ जाते हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021