भुवनेश्वर, जेएनएन। मुसीबत किसी से पूछकर नहीं आती है, इस हकीकत को हम सब सुनते एवं देखते आ रहे हैं। ऐसा ही कुछ वाकया ओडिशा के भद्रक जिला के चांदबाली ब्लाक के बांसड़ा थाना क्षेत्र के चरदिया गांव में सामने आया है। गैस लीक होने से घर में आग लग गई, जिसमें एक नव विवाहिता जिंदा जल गई, छह कमरे वाला मकान एवं घर के अन्दर मौजूद तमाम सामग्री पूरी तरह से जल कर खाक हो गई और ऊपर से दहेज उत्पीडऩ के चलते बहू को जिंदा जलाने का आरोप भी लग गया है। 

खबर के मुताबिक करीबन एक साल पहले ही भद्रक जिला के ओरासाही पंचायत के बाघनटा गांव की पूर्णिमा दास (22) एवं बांसड़ा थाना अन्तर्गत चरदिया गांव के प्रशांत महालिक (29) ने प्रेम विवाह किया था। सोमवार सुबह 8 बजे पूर्णिमा ने सास एवं ससुर के लिए चाय बनाने केलिए गैस को चालू किया। हालांकि पहले से ही गैस लीक हो रही थी, जिसके बारे में पूर्णिमा को पता नहीं चला। गैस में पूर्णिमा ने जैसे ही आग लगाई रसोईघर में आग चारों तरफ फैल गई और इसमें पूर्णिमा तो जिंदा जल ही गई कुछ ही क्षण के अन्दर पूरा घर धूं - धूं जलकर खाक हो गया।

इस आग में केवल उन्हीं का घर नहीं जला है बल्कि अन्य दो पड़ोसियों के घर भी आग के चपेट में आ गए। उस समय महिला का पति प्रशांत घर पर नहीं था। पूर्णिमा के सास-ससुर घर के बाहर चाय पीने के लिए बैठकर इंतजार कर रहे थे, जिससे वे बाल-बाल बच गए। गांव वालों ने आग बुझाने के लिए चांदबाली दमकल विभाग को सूचित किया। दमकल की टीम ने मौके पर पहुंचकर आग को नियंत्रित किया मगर तब तक 6 कमरे जलकर खाक हो चुके थे। वहीं पूर्णिमा के परिवार वालों ने कहा है कि षडयंत्र के तहत पूर्णिमा की हत्या की गई है। इस संदर्भ में वे बांसड़ा थाना में लिखित शिकायत भी दर्ज करायी है। पुलिस मामला दर्ज कर घटना की छानबीन कर रही है।

खेल-खेल में बच्चों ने लगा दी आग, सात बचचे जिंदा जले; तीन की मौत

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस