जासं, भुवनेश्वर : पशुपालन, डेयरी एवं मत्स्य पालन केंद्रीय राज्य मंत्री प्रताप षाड़ंगी ने बुधवार को मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से मुलाकात की। मुख्यमंत्री से मिलने के बाद लोकसेवा भवन के बाहर मीडिया से बातचीत में केंद्रीय मंत्री प्रताप षाड़ंगी ने कहा कि उनकी यह सौजन्यमूलक मुलाकात थी। इस दौरान राज्य में केंद्रीय अनुदान से एक टूल रूम सेंटर बनाने के लिए हमने मुख्यमंत्री को प्रस्ताव दिया है। इसमें 200 करोड़ रुपये खर्च होगा, जिस पर हमने मुख्यमंत्री के साथ चर्चा की है।

इसके साथ ही चार जिले में 4 एक्सटेंशन सेंटर बनाया जाएगा। 20 करोड़ रुपये खर्च कर यह सेंटर केंदुझर, बरहमपुर, बालेश्वर तथा कालाहांडी जिला में बनाए जाएंगे। प्रत्येक सेंटर के लिए जमीन की पहचान की गई है मगर आनुषांगिक व्यवस्था के लिए काम आगे नहीं बढ़ पा रहा है। इस संदर्भ में हमने मुख्यमंत्री से चर्चा की है।

मंत्री षाड़ंगी ने कहा कि एमएसएमई सेक्टर में 45 क्लस्टर सेंटर को अनुमोदन दिया गया है जबकि पूरे देश में यह संख्या 226 है। तटीय जिलों में 6700 एकड़ जमीन की पहचान की गई है। इसी जमीन में किस प्रकार से मत्स्य पालन किया जाए, इसे लेकर भी मुख्यमंत्री के साथ चर्चा होने की जानकारी केंद्रीय मंत्री ने दी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस