जासं, भुवनेश्वर : गंजाम की पी प्रियंका रानी पात्र की दोनों किडनी को सफलता के साथ अन्य दो लोगों के शरीर में प्रत्यारोपण करने वाले श्रीरामचंद्र भंज (एससीबी) मेडिकल कॉलेज एवं अपोलो अस्पताल के चिकित्सकों ने मंगलवार को मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से लोकसेवा भवन में मुलाकात की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि किडनी प्रत्यारोपण किया जाना राज्य के स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में एक बड़ी उपलब्धि है। फाइव टी प्रयोग का यह एक उपयुक्त उदाहरण है। मुख्यमंत्री ने चिकित्सकों के कौशल की सराहना करते हुए आश्वस्त किया कि आगामी दिनों में अंग प्रत्यारोपण के लिए राज्य सरकार सभी प्रकार का सहयोग मुहैया कराएगी। साथ ही इस दिशा में व्यापक जनजागरूकता फैलाने के लिए पर जोर दिया। इस अवसर पर एससीबी मेडिकल के नेफ्रोलाजी विभाग के मुख्य प्रो. डॉ. चितरंजन कर एवं अपोलो अस्पताल यूरोलाजी विभाग के मुख्य डॉ. समीर दास ने मृत व्यक्तियों के अंग को संग्रह करने एवं प्रत्यारोपण करने के संदर्भ में मुख्यमंत्री को विस्तार से जानकारी दी। बताया कि जिन दो लोगों में किडनी प्रत्यारोपण किया गया था, वे स्वस्थ हैं।

स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास ने भी चिकित्सकों को शुभकामना दी है। फाइव टी कार्यक्रम के सचिव वीके पांडियन ने कहा कि अंगदान एक बहुत बड़ा दान है। इससे अन्य लोगों का जीवन बचाया जा सकता है। इसके लिए जरूरत पड़ेगी तो हेलिकाप्टर का भी प्रयोग किया जा सकेगा। इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव निकुंज धल प्रमुख मौजूद थे। गौरतलब है कि मृत्यु के बाद अंगदान को प्रोत्साहित करने के लिए राज्य सरकार ने सूरज सम्मान की घोषणा कर रखी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस