भुवनेश्वर, जेएनएन। गंजाम के पी.प्रियंकाराणी पात्र की दोनों किडनी को सफलता के साथ अन्य दो लोगों की शरीर में प्रत्‍यारोपण करने वाले कटक श्रीरामचन्द्र भंज मेडिकल कालेज एवं अपोलो अस्पताल के डाक्टर मंगलवार को मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से लोकसेवा भवन में मुलाकात की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा है कि किडनी प्रत्यारोपण किया जाना राज्य के स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में एक बड़ी उपलब्धि है। मुख्यमंत्री ने कहा कि फाइव टी प्रयोग का यह एक उपयुक्त उदाहरण है। मुख्यमंत्री ने डाक्टरों के कौशल की सराहना की। आगामी दिनों में अंग प्रत्यारोपण के लिए राज्य सरकार सभी प्रकार के सहयोग मुहैया कराएगी। इस दिशा में व्यापक जनजागरूकता फैलाने के लिए भी मुख्यमंत्री ने महत्व दिया है। 

गौरतलब है कि मृत्यु के बाद अंगदान को प्रोत्साहित करने के लिए राज्य सरकार ने सूरज सम्मान की भी घोषणा की है। स्वास्थ्य मंत्री नव दास ने भी डाक्टरों को शुभकामना दी है। फाइव टी सचिव वी.के.पांडियन ने कहा कि अंगदान एक बहुत बड़ा दान है। इससे अन्य लोगों का जीवन बचाया जा सकता है। इसके लिए जरूरत पड़ेगी तो हेलीकाफ्टर का भी प्रयोग किया जा सकेगा।

मंडी में अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव की तैयारियां, जानें कार्यक्रम की पूरी रूपरेखा

इस कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव निकुंज धल ने प्रारंभिक सूचना दी। कटक एससीबी मेडिकल कालेज के नेफ्रोलाजी विभाग के मुख्य प्रो. डा. चितरंजन कर एवं अपोल अस्पताल यूरोलाजी विभाग के मुख्य डा. समीर दास ने मृतक व्यक्तियों के अंगदान संग्रह करने एवं प्रत्‍यारोपण करने के संदर्भ में विस्तार से जानकारी दी। किडनी प्रत्‍यारोपण होने वाले दोनों मरीज स्वस्थ होने की जानकारी बैठक में दी गई है।

 चिंताजनक: ओडिशा में वर्ष 2019 में 12 लाख बार हुई है वज्रपात की घटना

राजनीति व ठंडी फिजाओंं में गरमाहट लाता शिमला का कॉफी हाउस, जानें इससे जुड़ी दिलचस्प बातें

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस