भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता। ओडिशा में बुधवार को कोरोना के 10982 नए मामले सामने आए और 17 लोगों की मौत हो गई। इनमें संगरोध केंद्र से 6149 तथा स्थानीय संक्रमण के 4833 मामले शामिल हैं। यह जानकारी राज्य सरकार के सूचना और जनसंपर्क विभाग ने ट्वीट कर दी। अनुगूल जिले में 539, बालेश्वर जिले में 303, बरगढ़ जिले में 431, भद्रक जिले में 231, बलांगीर जिले में 426, बौध जिले में 180, कटक जिले में 885, देवगढ़ जिले में 127, ढेंकानाल जिले में 189, गजपति जिले में 111, गंजाम जिले में 177, जगतसिंहपुर जिले में 232, जाजपुर जिले में 349, झारसुगुड़ा जिले में 380, कलाहांडी जिले में 370, कंधमाल जिले में 134, केंद्रापड़ा जिले में 141, केंदुझर जिले में 253, खुर्दा जिले में 1539, कोरापुट जिले में 195, मालकानगिरि जिले में 71, मयूरभंज जिले में 239, नवरंगपुर जिले में 335, नयागढ़ जिले में 192, नुआपड़ा जिले में 378, पुरी जिले में 398, रायगड़ा जिले में 212, संबलपुर जिले में 454, सोनपुर जिले में 215, सुंदरगढ़ जिले में 964 तथा स्टेट पूल में 332 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

गौरतलब है कि प्रदेश में अब तक कुल 10661647 लोगों का कोविड परीक्षण हुआ है। इसमें से कुल 565648 लोग पॉजिटिव पाए गए। हालांकि इसमें से अब तक कुल 465133 लोग स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं। प्रदेश में सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 98230 तक पहुंच गई है। प्रदेश में कोरोना से अब तक 2232 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है। राज्य स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक, कोरोना से और 17 रोगियों की मौत हुई है। इनमें सर्वाधिक तीन-तीन रोगियों की मौत खुर्दा जिला और अनुगूल जिले में हुई है। कालाहांडी में दो, पुरी जिले में दो, सुंदरगढ़ जिले में दो, बालेश्वर जिले में एक, बौद्ध जिले में एक, ढेंकानाल जिले में एक, गंजाम जिले में एक तथा रायगड़ा जिले में एक संक्रमित मरीज की मौत कोरोना से होने की सूचना मिली है। अनुगूल जिले की 75 वर्षीय महिला तथा 56 व 89 वर्षीय पुरुषों की मौत हुई है। बालेश्वर जिले में एक 38 वर्षीय पुरुष की मौत हुई है। बौद्ध जिले में एक 45 वर्षीय पुरुष ने कोरोना से दम तोड़ दिया है।

खुर्दा जिला में दो रोगियों की मौत भुवनेश्वर में हुई है। भुवनेश्वर में एक 76 वर्षीय पुरुष की मौत हुई है, जो मधुमेह मेलिटस, उच्च रक्तचाप और क्रोनिक किडनी रोग से भी पीड़ित था। भुवनेश्वर में एक 58 वर्षीय महिला की मौत हुई है। खुर्दा जिले की 55 वर्षीय महिला की मौत हुई है, जो डिस्टेंट मेट्स के साथ स्तन कैंसर से भी पीड़ित थी। ढेंकानाल जिले में एक 42 वर्षीय पुरुष की मौत हुई है। गंजाम जिले में एक 62 साल का पुरुष की मौत हुई है, जो डायबिटीज मेलिटस और हाइपरटेंशन से भी पीड़ित था। कलाहांडी जिले में एक 54 वर्षीय पुरुष की मौत हुई है, जो मधुमेह मेलिटस से भी पीड़ित था। कलाहांडी जिले में एक 33 वर्षीय पुरुष की मौत हुई है। नुआपड़ा जिले में 61 वर्षीय पुरुष तथा 48 वर्षीय महिला की मौत हुई है। पुरी जिले में एक 63 वर्षीय पुरुष की मौत हुई है। सुंदरगढ़ जिले में 34 व 62 वर्षीय पुरुषों की मौत हुई है।

भुवनेश्वर में नहीं थम रही है कोरोना संक्रमण की रफ्तार, एक हजार रोज हो रहे संक्रमित

ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में कोरोना के संक्रमण की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है। हालात बेकाबू होने की ओर अग्रसर हैं। प्रतिदिन औसतन एक हजार लोग कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं। राजधानी क्षेत्र में कोरोना संक्रमितों के मरने का सिलसिला भी जारी है। राजधानी स्थित भुवनेश्वर नगर निगम के क्षेत्र में 11 मई तक 10689 कोरोना के सक्रिय मामले थे। भुवनेश्वर नगर निगम के आंकड़ों के विश्लेषण से पता चलता है कि बीते 11 दिनों से औसतन एक हजार लोग कोरोना संक्रमित हो रहे हैं।

बीएमसी की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, 11 मई को राजधानी क्षेत्र में 1196 कोरोना पॉजिटिव पाए गए, जबकि दो संक्रमित रोगियों की मौत हुई थी। 10 मई को 962 कोरोना संक्रमित पाए गए, जबकि दो कोरोना संक्रमित रोगियों की मौत हुई थी। नौ मई को 1084 कोरोना संक्रमित पाए गए, जबकि एक संक्रमित रोगी की मौत हुई थी। आठ मई को 1034 कोरोना संक्रमित पाए गए, लेकिन एक भी संक्रमित की मौत नहीं हुई। सात मई को 1048 कोरोना संक्रमित पाए गए, जबकि एक कोरोना संक्रमित की मौत हुई थी। छह मई को 1118 कोरोना संक्रमित पाए गए, जबकि तीन संक्रमित रोगियों की मौत हुई थी। पांच मई को 1074 कोरोना संक्रमित पाए गए, जबकि तीन संक्रमित रोगियों की मौत हुई थी। चार मई को 1116 कोरोना संक्रमित पाए गए, जबकि चार संक्रमित रोगियों की मौत हुई थी। तीन मई को 823 कोरोना संक्रमित पाए गए, जबकि दो संक्रमित रोगियों की मौत हुई थी। दो मई को 809 कोरोना संक्रमित पाए गए, जबकि एक संक्रमित की मौत हुई थी। एक मई को 1093 कोरोना संक्रमित पाए गए और चार संक्रमित रोगियों की मौत हुई थी।

28 अप्रैल के बाद सिर्फ चार बार मामूली रूप से नीचे उतरा ग्राफ

कोरोना की दूसरी लहर में 28 अप्रैल को राजधानी भुवनेश्वर में कोरोना संक्रमितों की संख्या पहली बार एक हजार के ऊपर 1044 दर्ज की गई। इसके बाद से सिर्फ चार बार यह संख्या मामूली रूप से एक हजार से नीचे उतरी। इसके बाद लगातार औसतन एक हजार कोरोना संक्रमित रोज पाए जा रहे हैं। 29 अप्रैल को राजधानी में 851 कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, जबकि 30 अप्रैल को यह आंकड़ा पुनः 1119 पर चला गया। एक मई को 1093 कोरोना संक्रमित पाए गए। इसके बाद दो मई को 809 कोरोना पॉजिटिव पाए गए। तीन मई को यह आंकड़ा 823 पर आया। फिर चार मई को 1116 संक्रमित पाए गए। फिर 10 मई को 962 कोरोना संक्रमित पाए और 11 मई को यह आंकड़ा फिर एक हजार के ऊपर 1196 पर पहुंच गया।

संक्रमण की तुलना में कम हुए स्वस्थ

राजधानी भुवनेश्वर में संक्रमित होने वाली संख्या की तुलना में स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या काफी कम देखने को मिली है। बीएमसी के आंकड़ों के अनुसार, एक मई को 509, दो को 598, तीन को 709, चार को 655, पांच को 599, छह मई को 673, सात को 848, आठ को 1019, नौ को 906 तथा 10 को 859 तथा 11 मई को 858 मरीज स्वस्थ हुए।

आंकड़े एक नजर में

अब तक कुल पॉजिटिव संख्या 55772, अब तक कुल स्वस्थ हुए 44778, अब तक कुल मौत 284, अब तक कुल सक्रिय मामले 10689 हैं।