भुवनेश्वर, जेएनएन। कोरोना संक्रमण पूरी दुनिया में अपना विस्तार कर चुका है। भारत में भी कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। ऐसे में इससे मुकाबला करने के लिए देश को 14 अप्रैल तक लॉकडाउन घोषित किया गया है। इसी क्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर रविवार को रात 9 बजे से 9 मिनट के बंद करने से राज्य में 1400 मेगावाट बिजली संचय हुई है। हालांकि इस समय के दौरान 557 मेगावाट बिजली संचय करने का अनुमान ऊर्जा विभाग की तरफ से लगाया गया था। 

ऊर्जा विभाग की तरफ से मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश भर में प्रधानमंत्री के आह्वान समर्थन करते हुए लोगों ने अपने घरों की लाइटें बंद कर दी। इतना ही नहीं प्रधानमंत्री ने आह्वान दिया था कि 9 बजे से 9 मिनट तक लाइट बंद करनी है, मगर लोगों ने इससे कहीं अधिक समय तक अपने घरों की लाइटों को बंद रखा और अपनी बालकनी या छत पर दीप, मोमबत्ती, मोबाइल के टार्च जलाकर खड़े नजर आए। इससे विभाग ने जो आंकलन किया था, उससे दुगुना से भी अधिक मात्रा में बिजली संचय हुई है।

यहां उल्लेखनीय है कि राजधानी भुवनेश्वर में 9 बजे से काफी पहले ही लोग अपने घरों की लाइट बंद कर बालकानी या छतों पर आ गए थे और समय खत्म होने के बाद भी लोग छत या बालकनी से दीप, लाइट जलाते नजर आए। कहीं कहीं तो इस दौरान लोगों ने पटाखे भी फोड़े।

Coronavirus In Odisha: 39 हुई कोरोना संक्रमितों की संख्‍या, एक दिन में 18 नये मामले आने से लोगों में 

भय

गौरतलब है कि ओडिशा में भी कोराना का भय बढता ही जा रहा है, रविवार को 18 नये मामले आने के बाद राज्‍य में कोरोना मरीजों की संख्‍या बढकर 39 हो गयी है। इनमें से 19  व्‍यक्ति भुवनेश्‍वर के बमीखाल इलाके के बताये जा रहे हैं। 

ओडिशा में 500 बेड वाला COVID-19 अस्पताल तैयार, सीएम पटनायक ने किया उद्घाटन

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस