भुवनेश्वर, जेएनएन। राज्य में रिकार्ड बहुमत के साथ पांचवीं बार नवीन पटनायक सरकार का बनना तय है। गुरुवार की देर रात तक नवीन पटनायक की पार्टी, बीजू जनता दल (बीजद) विधानसभा की 146 सीटों में से 96 सीट पर जीत दर्ज करने के साथ 17 सीटों पर दल के उम्मीदवार बढ़त बनाए हुए थे। ऐसे में तीन-चौथाई बहुमत के साथ नवीन पटनायक एक बार फिर मजबूत और लोकप्रिय नेता के रूप में उभरे है। वहीं भारतीय जनता पार्टी 15 सीटें जीतने समेत सात पर बढ़त के साथ दूसरे स्थान पर थी, जबकि काग्रेस ने सात सीटों पर जीत दर्ज की है और तीन सीटों पर उसके उम्मीदवार आगे थे।

एक सीट अन्य के खाते में जाती दिख रही है। उल्लेखनीय है कि नवीन पटनायक 2000 से ओडिशा के मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी संभाल रहे है। लगभग बीस साल बाद भी लोगों का भरोसा उनपर बरकरार है। साल 2014 के विधानसभा चुनाव की बात करें तो बीजद को 117, काग्रेस को 16 और भारतीय जनता पार्टी 10 सीट पर जीत हासिल हुई थी। वे बेहद पिछड़े कहे जाने वाले राज्य ओडिशा के 'विकास पुरुष' कहे जाते हैं। मितभाषी नवीन भले ही कम बोलते हैं लेकिन उनका काम बोलता है।

राज्य में नवीन पटनायक ने महिलाओं, स्कूली छात्राओं और किसानों के लिए बहुत सारी योजनाओं की शुरुआत की है। उन्होंने एक के बाद एक चक्रवात की मार झेलने वाले इस प्रदेश को किसी भी आपदा से लड़ने के लायक बनाया। गत दिनों फणि चक्रवात के जमीन से टकराने के बाद चली आंधी और बारिश में कम से कम जान की क्षति हुई। इस दौरान लोगों को न केवल सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया बल्कि उन्हें भोजन और अन्य जरूरी सुविधाएं भी मुहैया कराई गईं। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस