बालेश्वर, जेएनएन। बालेश्वर जिला के अंतर्गत खंतापरा के निकट फाल्कन मेराइन एक्सपोर्ट लिमिटेड नामक झींगा मछली प्रोसेसिंग फैक्ट्री में बीती रात को घटी गैस लीक दुर्घटना के चलते वहां कार्यरत 150 से ज्यादा श्रमिकों को सांस लेने में तकलीफ के चलते जिला मुख्य चिकित्सालय में भर्ती किया गया है। मंगलवार रात को इस फैक्ट्री से विषाक्त गैस लीक होने से 150 से ज्यादा श्रमिक अस्वस्थ हो गए थे।

इन श्रमिकों में अधिकांश महिलाएं एवं नाबालिग लड़कियां थी। पहले ही सबको खांतापरा तथा सोरों के स्वास्थ्य केंद्रों में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था बाद में इन्हें बालेश्वर जिला मुख्य चिकित्सालय में स्थानांतरित किया गया है। इनके स्वास्थ्य में विशेष सुधार ना देखते हुए इन्हें जिला मुख्य चिकित्सालय में इलाज के लिए भर्ती किया गया है। इन सभी को प्राइवेट एवं सरकारी एंबुलेंस के जरिए तथा अग्निशमन विभाग के लोगों द्वारा चिकित्सालय लाया गया था। 

यहां उल्लेखनीय है कि हर रोज की तरह बी शिफ़ट के अंतर्गत श्रमिक कार्य करने आए थे। इनमें से अधिकांश महिलाएं एवं आदिवासी नाबालिग लड़कियां थी। यह सब अपने कार्य में व्यस्त थे कि अचानक पूरा उद्योग सफेद धुंए में तब्दील हो गया। अचानक श्रमिकों को सांस लेने में दिक्कतें होने लगी। देखते ही देखते कई श्रमिक नीचे गिर पड़े थे तो कई अपनी जान को बचा कर इधर-उधर भागने लगे। आखिर यह कौन सा गैस था अमोनिया या क्लोरीन यह भी स्पष्ट नहीं हो पाया है।

एक डॉक्टरी दल को मरीजों की सेवा में खंतापड़ा स्वास्थ्य केंद्र भेजा गया है तो दूसरा दल बालेश्वर के जिला चिकित्सालय में कार्यरत है। मरीजों की संख्या इतनी ज्यादा होने के कारण चिकित्सालय के बरामदे में ही अधिकांश मरीजों का इलाज चल रहा है। घटनास्थल पर बालेश्वर के जिलाधीश के सुदर्शन चक्रवर्ती, पुलिस अधीक्षक वी जुगल किशोर कुमार समेत कई विधायक और समाजसेवी पहुंच चुके हैं। वहीं दूसरी ओर डॉक्टरों एवं कर्मचारियों के अभाव के चलते मरीजों के परिजनों में काफी असंतोष देखा गया।

सिर्फ 30 रुपये में वादी की खूबसूरती का दीदार, ट्रैक पर जल्द दौड़ेगी विस्टाडोम

कंपनी के भीतर श्रमिकों के सुरक्षा को लेकर भी श्रमिक सवाल उठाए हैं आखिर कैसे हुआ इतना बड़ा हादसा इसका जवाब देने वाला कोई नहीं दिखता। अभी हाल ही में 3 वर्ष पहले एक कंपनी खुली थी तथा 2 सीटों में यहां भारी संख्या में महिलाएं और नाबालिक लड़कियां कार्य किया करती थी। बालेश्वर के जिलाधीश के सुदर्शन चक्रवर्ती ने दैनिक जागरण से बात करते हुए बताया कि घटना की उच्चस्तरीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं तथा दोषी पाए गए व्यक्तियों को बख्शा नहीं जाएगा

 माता वैष्णो देवी आ रहे हैं तो देर न करें, दिखेगा ये खूबसूरत नजारा

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस