बालेश्वर, जागरण संवाददाता। बालेश्वर रेलवे स्टेशन के आसपास के इलाकों में 12 तारीख के रात 12:00 बजे से लेकर 13 तारीख के रात 12:00 बजे तक के लिए जिला प्रशासन की ओर से कर्फ्यू लगा दिया गया है। इस दौरान किसी भी व्यक्ति को उक्त इलाकों में जाने की अनुमति प्रदान नहीं की जाएगी।  जिला प्रशासन की मानें तो उक्त समय में गुजरात और महाराष्ट्र से प्रवासी उड़िया लोगों को लेकर कई ट्रेन जोकि बालेश्वर जिला समेत पड़ोसी जिला मयूरभंज के रहने वाले लोगों को लेकर बालेश्वर रेलवे स्टेशन पर पहुंचेगी। इस ट्रेन के जरिए करीब दो हजार से ज्यादा प्रवासी उड़िया लोग बालासर रेलवे स्टेशन पहुंचेंगे। 

रेलवे स्टेशन और उसके आसपास का मुहावरा बालेश्वर के जिलाधीश के सुदर्शन चक्रवर्ती तथा जिले के और कई वरिष्ठ अधिकारियों समेत बालेश्वर के एसपी बी जुगल किशोर कुमार और जिले के कई वरिष्ठ अधिकारियों ने मना किया था। रेलवे स्टेशन के दोनों मुख्य निकासी की ओर तथा माल गोदाम वाले निकासी की ओर स्थाई स्टॉल बनाए गए हैं। जहां पर उक्त ट्रेनों से आने वाले प्रवासी लोगों का नाम और पता रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। इसके बाद करीब 40 बसों का इंतजाम जिला प्रशासन की ओर से किया गया है। जिस पर उन्हें उनके गांव तक जहां पर करंट टाइम रूम बना है। वहीं पर उन्हें पहुंचाया जाएगा आज बुधवार को अचानक बालेश्वर में 33 नए मामले आ जाने से एक और जहां आम लोगों के बीच भय का माहौल छा गया है। इसे मिलाकर कुल बालेश्वर में करुणा पॉजिटिव की संख्या 90 तक पहुंच गई है जिसके चलते लोगों के बीच भय का माहौल हो ना मानो आम सी बात हो गई है।  

वहीं जिला प्रशासन ने लोगों से डरने की बात नहीं कहा है क्योंकि जिला प्रशासन का कहना है कि लोग ना डरे ना भयभीत हो क्योंकि जिन लोगों का पॉजिटिव रिजल्ट आ रहा है उन्हें पहले से करंट टाइम जगहों पर रखा गया है। इसीलिए किसी को भयभीत होने की कोई आवश्यकता नहीं है। यहां उल्लेखनीय है कि मात्र 1 सप्ताह के भीतर ही 50 से ज्यादा करो ना पॉजिटिव के मामले बालेश्वर जिले में निकल चुके हैं। वहीं सूत्रों की मानें तो करीब दो हजार से ज्यादा प्रवासी उड़िया बालेश्वर पहुंच चुके हैं। 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस