वाशिंगटन। अमेरिका को संयुक्त राष्ट्र से वरिष्ठ भारतीय राजनयिक देवयानी खोबरागडे की राजनयिक मान्यता संबंधी जो दस्तावेज मिले हैं उसका अध्ययन कर रहा है। एक अमेरिकी अधिकारी ने यह जानकारी दी है। देवयानी को इसी महीने अमेरिका में वीजा धोखाधड़ी मामले में अपमानजनक तरीके से गिरफ्तार किया गया था।

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया, 'हमें शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र से कागजात प्राप्त हुए हैं। इसकी समीक्षा की जा रही है।' हालांकि उन्होंने यह बताने से इन्कार कर दिया कि मंत्रालय कागजात की समीक्षा करने में कितना समय लगाएगा। उन्होंने इस बात की जानकारी देने से भी इन्कार किया कि देवयानी को पहचान पत्र कब दिया जाएगा। वीजा धोखाधड़ी के मामले में न्यूयॉर्क की अदालत द्वारा गिरफ्तारी वारंट जारी किए जाने के बाद देवयानी को 12 दिसंबर को गिरफ्तार किया गया था। भारत ने उनकी गिरफ्तारी और बाद में उनसे हुई बदसलूकी का कड़ा विरोध किया है। हालांकि बाद में देवयानी को जमानत पर छोड़ दिया गया।

न्यूयॉर्क की कोर्ट ने उनसे अपना राजनयिक पासपोर्ट जमा कराने को कहा था। इसके शीघ्र बाद भारत सरकार ने देवयानी का तबादला संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन में कर दिया था ताकि उन्हें पूर्ण राजनयिक छूट मिल सके। संयुक्त राष्ट्र ने देवयानी के तबादले को स्वीकार कर लिया है। पहचान पत्र जारी करने के लिए उसकी ओर से जरूरी कागजात अमेरिकी विदेश मंत्रालय को भेजे गए हैं ताकि देवयानी को पूर्ण राजनयिक छूट मिल सके।

देवयानी के खिलाफ मामला वापस लेने की मांग

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर