वाशिंगटन। उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण स्थल पर हाल में बढ़ी गतिविधियों के मद्देनजर अमेरिका ने कहा है कि यह तैयारी अंतरिक्ष में सेटेलाइट छोड़े जाने की भी हो सकती है। उल्लेखनीय है कि सेटेलाइट पिक्चर से गतिविधियों की जानकारी मिलने के बाद गुरुवार को आशंका जताई गई थी कि उत्तर कोरिया लंबी दूरी के मिसाइल परीक्षण की तैयारी कर रहा है। उत्तर कोरिया में बढ़ी गतिविधियों के बीच जापान ने अपनी सेनाओं को सतर्क कर दिया है।

उत्तर कोरिया की ताजा गतिविधियां उसके पड़ोसी देशों और अमेरिका की चिंता इसलिए बढ़ा रही हैं क्योंकि उन्हें लग रहा है कि प्रतिबंधित देश अपने अंतरिक्ष कार्यक्रम की क्षमता का इस्तेमाल लंबी दूरी की मिसाइल बनाने में कर सकता है। उत्तर कोरिया सन 2012 में ही अंतरिक्ष में सेटेलाइट छोड़कर अपनी यह क्षमता प्रदर्शित कर चुका है। इससे उसके लिए पांच हजार किलोमीटर से ज्यादा की मारक क्षमता वाली आइसीबीएम मिसाइल बनाना आसान हो गया है। इस मिसाइल के बना लेने से परमाणु क्षमता वाले उत्तर कोरिया की पहुंच अमेरिका तक हो जाएगी।

अमेरिकी अधिकारियों का मानना है कि उत्तर कोरिया दो सप्ताह के भीतर किसी भी दिन सेटेलाइट लांच कर सकता है। उन्हें चिंता इस बात की है क्योंकि आइसीबीएम मिसाइल बनाने की तकनीकी भी इससे मिलती-जुलती है। इसलिए हम उत्तर कोरिया में हो रही सभी गतिविधियों पर हर समय नजर रखे हुए हैं। अमेरिका की निजी खुफिया एजेंसी आल सोर्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी स्टीफन वुड के अनुसार ऐसा पहली बार हो रहा है कि उत्तर कोरिया परीक्षण स्थल पर अत्यधिक सावधानी बरतता नजर आ रहा है। वह परीक्षण स्थल पर नई इमारत भी खड़ी कर रहा है जिससे सेटेलाइट की तस्वीर को लेने से बचाया जा सके।

मजबूत होगी दक्षिण कोरिया की सुरक्षा

उत्तर कोरिया में नए मिसाइल के परीक्षण की आशंका के बीच अमेरिका ने अपने दोस्त दक्षिण कोरिया की रक्षा के लिए वहां उच्च क्षमता वाले मिसाइल डिफेंस सिस्टम को तैनात करने पर विचार शुरू कर दिया है। दक्षिण कोरिया सरकार से बातचीत के बाद इस तैनाती पर जल्द निर्णय ले लिया जाएगा।

Posted By: Gunateet Ojha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस