दोनेत्स्क। यूक्रेन में चल रहा खूनी संघर्ष थमने का नाम नहीं ले रहा। नए राष्ट्रपति के चुने जाने के बाद से विद्रोहियों को मिटाने के अभियान में लगी सेना को गुरुवार को बड़ा झटका लगा। विद्रोहियों ने सेना का एक हेलीकॉप्टर मार गिराया। इसमें एक जनरल समेत 14 सैनिकों की मौत हो गई।

कीव में कार्यवाहक राष्ट्रपति अलेक्जेंडर तुर्चिनोव ने कहा कि पूर्वी यूक्रेन में रसद ले जा रहा हेलीकॉप्टर विद्रोहियों ने स्लावियांस्क में मार गिराया। यह क्षेत्र अप्रैल से ही विद्रोहियों के कब्जे में है। यूक्रेन के पूर्वी क्षेत्र में दो महीनों से जारी गतिरोध में यह सेना को हुआ सबसे बड़ा नुकसान है। वहीं सरकार की ओर से हो रही कार्रवाई में इस हफ्ते 50 के लगभग विद्रोही मारे जा चुके हैं। तुर्चिनोव ने कहा कि मुझे सूचना मिली कि विद्रोहियों ने रूसी एंटी एयरक्राफ्ट मिसाइल की मदद से इस हेलीकॉप्टर को मार गिराया।

गृहमंत्री आर्सेन अवाकोव ने विद्रोहियों के पास से बरामद हथियारों को रूस के हथियार होने का दावा किया। उन्होंने एयरपोर्ट पर हुई हिंसा के लिए पुतिन सरकार पर दोष लगाया। उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर इन रूसी हथियारों की तस्वीर भी साझा की। इस बीच, दोनेत्स्क के पूर्वी शहर में स्वघोषित दोनेत्स्क पब्लिक रिपब्लिक के नेता डेनिस पुशिलिन ने कहा कि सरकार की ओर से हुए हमले में मारे गए विद्रोहियों में कुछ रूस से आए स्वयंसेवी थे। उनके शवों को सीमा पार उनके घरों तक भेजा जा रहा है। कीव की ओर से लगातार यूक्रेन में चल रहे विद्रोह के पीछे रूस का समर्थन होने का आरोप लगाया जाता रहा है।

पढ़ें : विद्रोहियों ने मार गिराए यूक्रेन के हेलीकॉप्टर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप