कीव। यूक्रेन के सैनिकों ने शुक्रवार को विद्रोहियों के कब्जे वाले शहर स्लोविआंस्क पर धावा बोला। बताया जाता है कि सैनिकों ने स्लोविआंस्क पर अपनी पकड़ मजबूत कर ली है। रूस ने इसे यूक्रेन द्वारा आपराधिक हमला बताया है। इससे यूक्रेन में शांति की उम्मीद धूमिल हो गई है। इससे पहले रूस समर्थक विद्रोहियों ने यूक्रेन के दो हेलीकॉप्टर मार गिराए। इस घटना में दो पायलट मारे गए।

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के प्रवक्ता ने कहा, हमारा देश इस बात को लेकर बहुत चिंतित है कि विदेशी बंधकों को मुक्त कराने में मदद के लिए पुतिन द्वारा यूक्रेन के पूर्वी शहर में भेजे गए दूत की बात को नहीं सुना गया। यूक्रेन के सैनिकों द्वारा प्रारंभ किए गए ऑपरेशन से दो सप्ताह पहले पश्चिमी देशों के साथ हुआ समझौता खटाई में पड़ गया है।

यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि दो एमआइ-24 हेलीकॉप्टरों को विमानभेदी मिसाइलों से मार गिराया गया। इस घटना में दो पायलट मारे गए हैं जबकि चालक दल के अन्य सदस्य घायल हो गए। मंत्रालय के मुताबिक एक एमआइ-आठ हेलीकॉप्टर को भी निशाना बनाया गया। गोलीबारी प्रारंभ होने के लगभग आठ घंटे बाद करीब एक लाख 30 हजार की आबादी वाले स्लोविआंस्क शहर में दुकानें बंद हो गई। सड़कों पर अलगाववादियों का कब्जा था। शहर के बाहरी हिस्से में यूक्रेन के सैनिक बख्तरबंद वाहनों में मोर्चा संभाले देखे गए। यूक्रेन के अधिकारियों ने बताया कि सैनिक शहर के चारों ओर से विद्रोहियों के ठिकाने की ओर बढ़ रहे हैं। सैनिकों ने शहर की घेराबंदी कर ली है। वे हेलीकॉप्टर मार गिराए जाने को लेकर शहर में रूसी सैनिकों की मौजूदगी की ओर संकेत कर रहे हैं। जबकि, रूस कई बार यूक्रेन में अपने सैनिकों की मौजूदगी और विद्रोह को नियंत्रित करने की बात से इन्कार कर चुका है।

''यूक्रेन में रूसी कार्रवाई की आशंका के बीच नाटो के यूरोपीय मित्रों को रक्षा खर्च में बढ़ोतरी करने की जरूरत है।''

-चक हेगल (अमेरिकी रक्षा मंत्री)

यूक्रेन को लेकर बिडेन ने रूस को आगाह किया

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप