इस्‍लामाबाद, एएनआइ। पाकिस्‍तान की जमीं से हक्‍कानी नेटवर्क और लश्‍कर-ए-तैयबा जैसे कई आतंकवादी संगठन संचालित हो रहे हैं। पाकिस्‍तान खुद वैश्विक स्‍तर पर अपनी नकारात्‍मक छवि के लिए जिम्‍मेदार है और उसे जरूर इसकी जिम्‍मेदारी लेनी चाहिए। यह कहना है अमेरिका के पूर्व पाकिस्‍तानी राजदूत हुसैन हक्‍कानी का।

डॉन टीवी से बातचीत में हक्‍कानी ने कहा कि पाकिस्‍तान अपनी सबसे बड़ी कमजोरी के रूप में इसे स्‍वीकार करे और इन आतंकी संगठनों के खात्‍मे के लिए ठोस कदम उठाए। वहीं हक्‍कानी ने पाकिस्‍तान सरकार को सलाह दी कि वह कश्‍मीर पर अपना अड़ियल रवैया छोड़ दे और पड़ोसी देश भारत के साथ शांतिपूर्ण संबंध कायम करने को लक्ष्‍य बना ले। उन्‍होंने कहा कि कश्‍मीर मुद्दे को राजनीतिक बातचीत में हावी नहीं होने देना चाहिए।

हक्‍कानी ने आगे कहा कि कैसे संघीय सरकार पूरी दुनिया के सामने लगातार आतंकी संगठनों की मौजूदगी से इंकार कर सकती है, जबकि अपने ही देश की मीडिया आए दिन उनकी मौजूदगी का दावा कर रही हैं।

यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट से आज अयोग्‍य करार दिए जा सकते हैं नवाज शरीफ, संकट में भविष्‍य

 

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस