लंदन। अरबपति अनिवासी भारतीय और स्टील किंग लक्ष्मी निवास मित्तल को सिख समुदाय की ओर से विशेष पुरस्कार प्रदान किया गया है। उन्हें यह पुरस्कार पंजाब में चार अरब डॉलर [करीब 214 अरब रुपये] का संयुक्त उपक्रम वाला तेलशोधन कारखाना [रिफाइनरी] स्थापित करने में सहयोग के लिए दिया गया है। लंदन में रविवार रात पुरस्कार ग्रहण करने के बाद दुनिया की सबसे बड़ी इस्पात निर्माता कंपनी आर्सेलर मित्तल के अध्यक्ष मित्तल ने कहा कि गैर सिख समुदाय के व्यक्ति को यह सम्मान देना काफी महत्वपूर्ण है। यह सम्मान सभी सिखों और पंजाब में रहने वाले लोगों के लिए है। भटिंडा में मित्तल एनर्जी लिमिटेड और राज्य सरकार के स्वामित्व वाली हिंदुस्तान पेट्रोलियम कार्पोरेशन लिमिटेड कंपनी के साथ साझेदारी में लगाए जा रहे कारखाने का जिक्र करते हुए मित्तल ने कहा उन्हें राज्य सरकार से बहुत सहयोग मिला। इस रिफाइनरी से प्रतिवर्ष 90 लाख टन तेल का शोधन किया जा सकेगा।

इसके अलावा पंजाब में सैकड़ों स्कूलों की स्थापना करने वाले शिक्षाविद संत बाबा इकबाल सिंह और पिंगलवाड़ा आंदोलन को बढ़ावा देने वाली इंद्रजीत कौर जी को सिख लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार से सम्मानित किया गया। कैंसर रिसर्च यूके के सीईओ हरपाल सिंह कुमार को सिख्स इन चैरिटीज पुरस्कार दिया गया। इसके अलावा द गुरु गोविंद सिंह कॉलेज में लेक्चरर रह चुके जागीर सिंह को एजुकेशन अवार्ड से नवाजा गया। डाटाविंड लिमिटेड के सीईओ सुनीत सिंह तुली को बिजनेस एंटरप्रेनर अवार्ड से सम्मानित किया गया।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर