सियोल, रायटर। भ्रष्टाचार मामले में घिरे सैमसंग समूह के प्रमुख जाय योंग ली पर गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है। दक्षिण कोरिया के अभियोजकों ने उनको गिरफ्तार करने के लिए सियोल की अदालत से वारंट की मांग की है। उन पर राष्ट्रपति पार्क ग्यून हेई की सहेली चोई सुन-सिल को करोड़ों डॉलर की रिश्वत देने का आरोप है। इसके चलते पार्क के खिलाफ बीते दिसंबर महीने में संसद में महाभियोग प्रस्ताव पारित हुआ था।

जांचकर्ताओं ने भ्रष्टाचार मामले में पिछले हफ्ते ली से लगातार 22 घंटे तक पूछताछ की थी। वारंट के लिए दाखिल कोर्ट में दाखिल आवेदन में बताया गया है कि ली ने घोटाले के केंद्र में रही चोई से जुड़े संगठनों को 3.64 करोड़ डॉलर (करीब 248 करोड़ रुपये) की रिश्वत दी थी।

यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट का अनोखा फैसला, 24 हफ्ते के भ्रूण को गिराने की दी इजाजत

यह राशि सैमसंग से संबद्ध दो कंपनियों का 2015 में विलय और पारिवारिक कारोबार पर अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए दी गई थी। वर्ष 2014 में उनके पिता ली कून-ही हार्ट अटैक के बाद समूह को संभालने में असमर्थ हो गए थे। इसके बाद योंग ली कंपनी प्रमुख की कुर्सी पर काबिज हुए। उन पर गबन और झूठी गवाही देने का भी आरोप है।

यह भी पढ़ें: 2 वर्षों के दौरान पाकिस्तानी गोलाबारी में मारे गए 26 लोग, 158 हुए घायल

विशेष अभियोजक के प्रवक्ता ली क्यू-चुल ने कहा कि इस बात के सुबूत हैं कि रिश्वत से मिली धनराशि पार्क और चोई ने साझा की थी। ली बुधवार को सियोल सेंट्रल डिस्टि्रक्ट कोर्ट में पेश होंगे। इसके बाद यह अदालत फैसला करेगी कि गिरफ्तारी वारंट को मंजूरी दी जाए या नहीं।

कंपनी की आय 23000 करोड़ डॉलर

सैमसंग बहुराष्ट्रीय कंपनी है जिसका मुख्यालय सियोल में है। इसकी स्थापना जाय के दादा ली ब्यूंग-चुल ने 1938 में की थी। इस समय यह स्मार्टफोन, फ्लैट-स्क्रीन टीवी और मेमो कार्ड बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है। इसका कारोबार भारत में भी है। इसकी सालाना आय 23000 करोड़ डॉलर (करीब 15.66 लाख करोड़ रुपये) है। यह राशि दक्षिण कोरिया की 17 फीसद अर्थव्यवस्था के बराबर है।

Posted By: Mohit Tanwar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस