मास्‍को (रॉयटर)। सीरिया के अलेप्‍पो में राहत सामग्री उतार कर वापस जा रहे रूस के हेलीकॉप्‍टर Mi-8 को विद्रोहियों ने एक हमले में मार गिराया है। रक्षा मंत्रालय से जारी एक बयान में कहा गया है कि इस हादसे में तीन क्रू मैंबर्स समेत पांच लोगों की मौत हो गई है। हालांकि अभी तक हमले में मारे गए लोगों की पहचान को उजागर नहीं किया गया है। लेकिन सोशल मीडिया में इसके पीछे आतंकी संगठन जैश अल फतह का हाथ बताया जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक हेलीकॉप्‍टर को अलेप्‍पो के इदलिब प्रांत में मार गिराया गया है। मंत्रालय के बयान के मुताबिक यह हेलीकॉप्‍टर रूस के एयरबेस खमेमिम जा रहा था। गौरतलब है कि सीरिया में इस वर्ष में तीन रूसी हेलीकॉप्‍टर्स मार गिराए गए हैं। इससे पहले इसी माह में पलमेरा में Mi-25 हेलीकाॅप्‍टर को जमीन से हवा में मिसाइल दाग कर मार गिराया गया था। इसमें दो रूसी पायलटों की मौत हो गई थी।

क्रेमलिन से जारी एक बयान में इस घटना में मारे गए सभी पांच जवानों की मौत पर गहरा शोक व्‍यक्‍त किया गया है। क्रेमलिन प्रवक्‍ता देमित्री पेसकॉव ने कहा है कि हेलीकॉप्‍टर के पायलट इसको रिहायशी इलाके से दूर ले गए जिससे और अधिक जानमाल की हानि को बचाया जा सका। उन्‍होंने कहा कि यह सभी हमारे लिए हीरो हैं। हम उनकी बहादुरी और उनकी शहादत को सलाम करते हैं।

इस बीच सीरियाई विद्रोहियों ने शासन के कब्जे वाले दक्षिण पश्चिम अलेप्पो पर सबसे बड़ा हमला बोला है। सेना ने पिछले हफ्ते आपूर्ति रास्ते पर कब्जा कर अपने नियंत्रण वाले शहर के हिस्से पर पकड़ मजबूत कर ली थी।विद्रोही आपूर्ति मार्ग को खुलवाने के साथ ही दोबारा पूरे शहर पर कब्जा करने का प्रयास कर रहे हैं। विद्रोहियों ने रविवार रात हमला शुरू किया। विद्रोही सैन्य कमान ने दावा किया कि उन्होंने हमले के कुछ घंटों में ही सेना के कई ठिकानों पर कब्जा कर लिया है।

सेना ने भी विद्रोहियों के हमले की पुष्टि की है, लेकिन कहा कि सरकारी सैनिकों ने उन्हें पीछे खदेड़ दिया है। गौरतलब है कि विद्रोहियों के कब्जे वाले अलेप्पो में करीब ढाई लाख लोग रहते हैं। सेना ने जुलाई में विद्रोहियों के कब्जे वाले हिस्से के अंतिम आपूर्ति मार्ग पर भी कब्जा कर लिया था। एक सीरियाई मानवाधिकार समूह ने कहा कि पिछले कुछ महीनों में विद्रोहियों का यह सबसे बड़ा हमला है।

Posted By: Kamal Verma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप