कुआलालंपुर। रूसी विद्रोहियों ने आखिरकार मलेशियाई विमान एमएच 17 के यात्रियों के शव और विमान के दोनों ब्लैक बॉक्स जांचकर्ताओं को सौंप दिए हैं। इस मसले पर बीते दो दिनों से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बातचीत जारी थी।

मालूम हो, यूक्रेन सीमा में प्रवेश करते ही मलेशिया एयरलाइन्स के यात्री विमान एमएच 17 पर विद्रोहियों ने मिसाइल से हमला कर दिया था। विमान में सवार कुल 298 यात्रियों की मौत हो गई थी।

सबूत छिपाने के लिए विद्रोहियों ने उस एसी ट्रेन पर भी कब्जा कर लिया था, जिसमे क्षतविक्षत शव रखे गए थे। साथ ही जांच में अहम भूमिका निभाने वाले दुर्घटनाग्रस्त विमान के दोनों ब्लैक बॉक्स में अपने कब्जे में कर लिए थे।

बहरहाल, अब ये ब्लैक बॉक्स मलेशिया सरकार के हवाले कर दिए गए हैं, जिनकी जांच कर वारदात के बारे में जानकारी जुटाई जाएगी।

मिसाइल से हमला नहीं : रूस

पूरे मामले में पश्चिमी देशों ने रूस के कठघरे में खड़ा किया है। जिन विद्रोहियों ने विमान में मिसाइल दागी, उन्हें रूसी समर्थक बताया जा रहा है।

हालांकि रूसी रक्षा मंत्री ने दावा किया है कि विमान पर मिसाइल हमला नहीं हुआ। उन्होंने यूक्रेन पर शक जाहिर करते हुए कहा कि यूक्रेन के लड़ाकू विमान उस यात्री विमान से नजदीक उड़ान भर रहा था।