कोबे, प्रेट्र : एक हजार और पांच सौ रुपये के नोट बंद कर काले धन के खिलाफ बड़ी कार्रवाई को अंजाम देने के बाद भी सरकार की मुहिम जारी रहेगी। जापान यात्रा पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को साफ कहा कि काला धन मामले में किसी को छोड़ा नहीं जाएगा। बेहिसाब संपत्ति का कोई मामला यदि सामने आया, तो मैं आजादी के बाद से ही उसके रिकार्डों की जांच कराऊंगा।

यहां पर एक कार्यक्रम में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, 'जितने लोगों की जरूरत पड़ेगी, उतने लोग इस काम में लगाए जाएंगे। जिन लोगों के पास बेहिसाब धन है, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। साथ ही इस बात की भी कोई गारंटी नहीं है कि 30 दिसंबर के बाद और कदम नहीं उठाए जाएंगे।' सरकार ने लोगों को पुराने नोट जमा कराने के लिए 30 दिसंबर तक का ही समय दिया है।

FDI को पीएम मोदी ने दिया नया नाम, कहा- FDI मतलब 'फर्स्ट डेवलप इंडिया'

मोदी बोले, 'मैं एक बार फिर कहना चाहता हूं कि 30 दिसंबर को यह योजना खत्म होने के बाद भी हम कार्रवाई जारी रखेंगे। मुझे जो लोग जानते हैं, वे बेहद बुद्धिमान हैं। उन्हें पता है कि बैंकों के बजाय इन नोटों को गंगा में डाल देना कहीं बेहतर है।' उन्होंने इस खबर के संदर्भ में यह बात कही कि हजार, पांच सौ के नोट खत्म होने के बाद इन्हें गंगा नदी में प्रवाहित किया जा रहा है।

नोट बंद करने के फैसले का समर्थन करने के लिए मोदी ने देशवासियों को भी सराहा। उन्होंने कहा, 'मैं अपने देशवासियों को सलाम करता हूं। लोग रुपये के लिए चार घंटे, छह घंटे लाइन में लगे रहे, लेकिन देशहित में फैसले को स्वीकार किया।'

मोदी ने कहा कि मैंने लोगों को होने वाली परेशानियों को लेकर बहुत सोचा। इसे गोपनीय रखना जरूरी था। इसे अचानक से भी करना था। लेकिन मैंने कभी ये नहीं सोचा था कि लोग इसके लिए मुझे दुआएं देंगे।

Posted By: Sachin Bajpai

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस