कराची, प्रेट्र। पाकिस्तानी फिल्म उद्योग को पटरी पर लाने के लिए भारतीय फिल्मों के प्रदर्शन पर लगी रोक हटाने का फैसला किया गया है। आर्थिक तंगहाली से परेशान सिनेमाघर मालिकों के संघ ने यह घोषणा की है। बॉलीवुड फिल्मों का प्रदर्शन सोमवार से शुरू किया जाएगा। उड़ी हमले के बाद भारतीय फिल्मों की स्क्रीनिंग रोक दी गई थी।फिल्म एग्जिबिटर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष जोराइश लशारी ने शनिवार को बताया कि संबंधित पक्षों से विचार विमर्श के बाद 19 दिसंबर से भारतीय फिल्मों की स्क्रीनिंग शुरू करने का फैसला लिया गया है।

पढ़ें- 5वें दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में पाक फिल्मों को नहीं मिली मंजूरी

उन्होंने कहा, 'भारतीय फिल्मों की स्क्रीनिंग को अस्थायी तौर पर निलंबित करने के फैसले से सिनेमाघरों के मालिकों और फिल्म उद्योग से जुड़े लोगों को नुकसान उठाना पड़ा है। फिल्म व्यवसाय नई भारतीय फिल्मों पर निर्भर है, क्योंकि सिनेप्लेक्स और मल्टीप्लेक्स बनाने के लिए व्यापक निवेश किया गया है।' लशारी ने सफाई दी कि पाकिस्तानी फिल्म प्रदर्शक और वितरक संघ ने बॉलीवुड फिल्मों के प्रदर्शन को स्व-घोषित तौर पर निलंबित किया था, प्रतिबंधित नहीं किया था।

पढ़ें- सिंधु जल संधि में किसी तरह का बदलाव मंजूर नहीं : पाकिस्तान

बकौल लशारी, इंडियन मोशन पिक्चर्स प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन द्वारा पाकिस्तानी कलाकारों और तकनीकी विशेषज्ञों पर भारत में रोक लगाने के बाद ऐसा किया गया था।घबराहट का माहौल पाकिस्तानी और हॉलीवुड फिल्मों को देखने के लिए पर्याप्त दर्शक नहीं आ रहे हैं। इससे सिनेमाघरों के मालिक, प्रदर्शक और भारतीय फिल्मों के आयातकों में जबरदस्त घबराहट है। इन दिनों कई भारतीय फिल्में रिलीज हो रही हैं। पाकिस्तानी दर्शकों को आमिर खान की आने वाली फिल्म 'दंगल' का बेसब्री से इंतजार है। एक निजी मीडिया समूह इसके प्रदर्शन अधिकार खरीदने में जुटा है।

Posted By: Mohit Tanwar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस