न्यूयॉर्क, प्रेट्र : भारत और पाकिस्तान के मध्य नियंत्रण रेखा पर बढ़े तनाव और करीब रोज हो रही गोलाबारी के सिलसिले में बुधवार को पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र से मांग की कि वह समस्या के पूरी तरह से फैलने से पहले रोके।

पाकिस्तानी राजदूत मलीहा लोधी ने संयुक्त राष्ट्र के उप महासचिव जान एलीसन और महासचिव के प्रशासनिक प्रमुख एडमंड मुलेट से मुलाकात में यह बात कही है। लोधी ने नियंत्रण रेखा की स्थिति को अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा बताया। पाकिस्तानी स्थायी मिशन की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि भारत नियंत्रण रेखा पर तनाव बढ़ाने की लगातार कोशिश कर रहा है।

बुरहान जिंदा पकड़ा जाता तो हालात ज्यादा खराब होते: श्री श्री रविशंकर

ऐसा वह कश्मीर में मानवाधिकार हनन के मामलों से अंतरराष्ट्रीय बिरादरी का ध्यान हटाने के लिए कर रहा है। बयान में गोलाबारी में घायल लोगों को ले जा रही एंबुलेंस पर हमले का भी आरोप लगाया गया है। कहा गया है कि ऐसा करके भारतीय सेना ने मानवाधिकारों के हनन का घृणित कार्य किया है। लोधी ने समस्या पूरी तरह से फैलने से पहले उस पर ध्यान देने का अनुरोध किया है।

संयुक्त राष्ट्र के शांति रक्षा वाले विभाग से मांग की गई है कि वह अपने नियंत्रण रेखा पर अपने नियुक्त पर्यवेक्षण दल को सतर्क करके भारत और पाकिस्तान के बीच के तनाव को कम कराने का प्रयास करे। बुधवार को पाकिस्तानी सेना के बयान में कहा गया था कि भारतीय फायरिंग में उसके तीन सैनिकों सहित सात लोग मारे गए हैं। इससे पहले मंगलवार को पाकिस्तानी गोलीबारी में तीन भारतीय सैनिक शहीद हुए थे।

जाकिर नाइक की बढ़ी मुश्किलें, आइआरएफ के खाते सील हुए

Posted By: Sachin Bajpai

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप