न्यूयॉर्क, जेएनएन। रिलायंस फाउंडेशन की संस्थापक एवं अध्यक्ष नीता अंबानी को न्यूयॉर्क में प्रतिष्ठित मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम ऑफ आर्ट (द मेट) के द्वारा सम्मानित किया गया है। यह विशेष सम्मान नीता अंबानी के शिक्षा, खेल, स्वास्थ्य, ग्रामीण परिवर्तन, आपदा प्रतिक्रिया, महिला सशक्तिकरण और कला के संवर्धन के क्षेत्र में विशाल परोपकारी कार्य को सम्मानित करने के लिए दिया गया है। इस सम्मान को प्राप्त करने वाली वे पहली दक्षिण एशियाई व्यक्ति हैं।

मेट को दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित म्यूजियम्स में से एक माना जाता है। मौजूदा समय में यह इस शहर के तीन प्रसिद्ध स्थलों पर है- द मेट फिफ्थएवेन्यू, द मेटब्रेयर और द मेटक्लोइस्टर्स- जिनमें दुनिया भर के 5000 वर्षों से अधिक कलाकृतियां रखी हुई हैं।

मेट अंबानी की अगुवाई में रिलायंस फाउंडेशन के द्वारा किए गए कार्य की विविधता एवं परिमाप से सबसे अधिक प्रभावित था। जो निर्देश वे इस सशक्तिकरण को देती हैं उससे इसे स्वास्थ्य, शिक्षा, खेल के माध्यम से जमीनी स्तर पर विकास और महिला सशक्तिकरण के साथ-साथ स्थायी शहरी और ग्रामीण रुपांतरण पर अपना ध्यान केंद्रित करने में मदद मिली है। इस फाउंडेशन के द्वारा भारतीय कला को मिलने वाला समर्थन और विश्वस्तर पर ले जाने की आकांक्षा नीता अंबानी के व्यक्तिगत जूनून की ही देन है।

बता दें, रिलायंस फाउंडेशन ने दस मिलियन से अधिक भारतीयों को लाभांवित किया है। यह 10,500 शहरी क्षेत्रों और गांवो के लोगों के जीवन के प्रभावित करता है।

द मेट द्वारा दिए गए सम्मान के बारे में कहते हुए नीता अंबानी ने कहा कि रिलायंस फाउंडेशन में हमारे द्वारा किए गए कार्य के लिए यह सम्मान प्राप्त करने मैं खुशी महसूस कर रही हूं। यह वास्तव में संतोषजनक है कि विशेषकर शिक्षा, खेल-कूद, स्वास्थ्य एवं ग्रामीण परिवर्तन के लिए किए गए प्रयास लाखों लोगों के चेहरों पर मुस्कान ला रहे हैं। द मेट जैसे वैश्विक संस्थान की ओर से यह विशिष्ट सम्मान स्थायी विकास और सामाजिक सशक्तिकरण के प्रति हमारी प्रतिवद्धता के लिए सम्मान है, और यह रिलायंस फाउंडेशन में मौजूद हम सभी को आने वाली पीढ़ी के लिए इस दुनिया को एक बेहतर स्थान बनाने के लिए सतत प्रयास करने के लिए प्रेरित करेगा।

भारत में खेल-कूद के विकास के लिए नीता अंबानी के दूरदर्शी कार्यों को अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) द्वारा सम्मानित किया गया था, जिसने उन्हें पहली भारतीय महिला सदस्य के तौर पर चुना था। वर्तमान समय में वो आईओसी में भारत की एकमात्र सदस्य हैं।

मेट के मल्टीकल्चरल ऑडियंस डिवेलपमेंट इनिशिएटिव द्वारा आयोजित यह कार्यक्रम द मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम ऑफ आर्टस के विविध समुदायों का जश्न मनाता है और ऑडियंस डिवेल्पमेंट डिपार्टमेंट के सहयोग के लिए जागरुकता फैलाता है। यह कार्यक्रम म्यूजियम के समग्रता की भावना के साथ अधिक से अधिक लोगों को सेवा प्रदान करने के म्यूजियम के रणनैतिक मिशन की आधारशिला है।

अहमदाबाद से मेरा गहरा नाता है, आखिर मेरी जन्मभूमि है: नीता अंबानी

Posted By: Manish Negi