मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

न्यूयॉर्क। अमेरिकी शहर न्यूयॉर्क में गलत तरीके से सजा पाने वाले एक व्यक्ति को मुआवजे के तौर पर एक करोड़ डॉलर [करीब 60 करोड़ रुपये] दिया गया है। उसने एक हत्या के लिए कैद में 16 साल गुजारी थी, जबकि ये अपराध उसने किया ही नहीं था।

अब 42 साल के हो चुके जब्बार कोलिन्स को फरवरी 1994 में एक यहूदी धर्मगुरु अब्राहम पोलॉक की हत्या के मामले में दोषी करार देते हुए जेल भेज दिया गया था। अफ्रीकी अमेरिकी कोलिन्स को मार्च 1995 में चश्मदीदों की गवाही के आधार पर जेल की लंबी सजा सुनाई गई थी। चश्मदीदों ने अपने दावे में कहा था कि उन्होंने अपराध की जगह से कोलिन्स को भागते हुए देखा था। उस समय उसकी उम्र महज 21 वर्ष थी। हालांकि उसे 2010 में रिहा कर दिया गया था। एक बयान में उसके वकील जोएल रुबिन ने बताया कि कोलिन्स ने न्यूयॉर्क शहर के खिलाफ मुकदमे में एक करोड़ डॉलर मुआवजे पर समझौता किया है। मुकदमे से बचने के लिए शहर और प्रांत समझौते के लिए सहमत हुए।

पढ़ें: एंबुलेंस देरी से आने पर महिला वैज्ञानिक को 51 करोड़ रुपये का मुआवजा

पढ़ें: 24,250 अमेरिकी डॉलर सहित नेपाली गिरफ्तार

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप