वॉशिंगटन (पीटीआई)। अमेरिका ने पाकिस्तान स्थित आंतकवादी संगठन लश्कर ए तैयबा को अमेरिकी नागरिकों समेत सैकड़ों निर्दोष लोगों की मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया है। हालांंकि इस दौरान अमेरिका ने लश्कर के प्रमुख हाफिज सईद पर कोई टिप्पणी नहीं की। इस संगठन को संयुक्त राष्ट्र ने आतंकवादी संगठन के रूप में सूचीबद्ध किया गया था जिसके बाद इसका नाम बदलकर जमात उद दावा कर दिया गया था।

हाफिज सईद पर नहीं की टिप्पणी

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के उप प्रवक्ता मार्क टोनर ने हाफिज सईद पर टिप्पणी करने से साफतौर पर इंकार करते हुए कहा कि वह हाफिज सईद के बारे मेंं कुछ नहीं कहेंगे। उसे आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के साथ उसकी संबद्धता के कारण लक्षित प्रतिबंधतों के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद 1267 अलकायदा प्रतिंबध समिति या संयुक्त राष्ट सुरक्षा समिति ने सूचीबद्ध किया है। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि लश्कर और सईद दोनों को अमेरिकी सरकार ने सूचीबद्ध किया हुआ है। लश्कर अमेरिकी नागरिकों समेत सैकड़ों निर्दोष लोगों की मौत के लिए निस्संदेह जिम्मेदार है।

लोकतंत्र के नाम पर पाक में तानाशही, सरकार के खिलाफ खड़ें हो लोग: CJP

जमानत पर है मुंबई हमले का मास्टरमाइंड

वर्ष 2008 में मुंबई में किए गए आतंकवादी हमलों में लश्कर के 10 आतंकवादी शामिल थे। इन हमलों में 166 लोगों की मौत हो गई थी और करीब 300 लोग घायल हो गए थे। हमलों का मास्टरमाइंड और लश्कर का आतंकवादी जकी उर रहमान लखवी एक साल पहले जमानत पर जेल से रिहा किए जाने के बाद किसी अज्ञात स्थान पर रह रहा है। इस मामले के अन्य छह संदिग्ध रावलपिंडी की अदियाला जेल में हैं।

यदि जीता तो येरुशलम को इजरायल की राजधानी के तौर पर दूंगा मान्यता: ट्रंप

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस