वाशिंगटन, रायटर। अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव को लेकर हर दिन नए रहस्योद्घाटन हो रहे हैं। अब राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दामाद और व्हाइट हाउस के वरिष्ठ सलाहकार जेरेड कुश्नर संघीय जांच एजेंसी एफबीआइ के रडार पर हैं। चुनाव से पहले रूस के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात करने के मामले में उनसे पूछताछ हो सकती है।

'वाशिंगटन पोस्ट' ने जांच से जुड़े अधिकारियों के हवाले से एक रिपोर्ट में लिखा है कि दिसंबर और अन्य मौकों पर रूस के राजदूत और मॉस्को के एक बैंकर से मुलाकात के सिलसिले में कुश्नर के खिलाफ जांच चल रही है। रिपोर्ट के मुताबिक, व्हाइट हाउस में तैनात मौजूदा अधिकारियों में कुश्नर इकलौते व्यक्ति हैं, जिन्हें हाई प्रोफाइल जांच में महत्वपूर्ण माना जा रहा है। एफबीआइ के अलावा संसदीय समितियां और कानून विभाग द्वारा नियुक्त विशेष अधिकारी भी राष्ट्रपति चुनाव को प्रभावित करने के मामले की जांच कर रहे हैं।

ट्रंप के चुनाव प्रचार अभियान दल और रूसी अधिकारियों पर साठगांठ के आरोप लगाए गए हैं। हालांकि, अधिकारियों ने एनबीसी न्यूज को बताया कि कुश्नर में दिलचस्पी का मतलब यह नहीं है कि जांच एजेंसी उन्हें किसी अपराध में संदिग्ध मानती है या उन पर आरोप तय करना चाहती है। एफबीआइ ने कुश्नर को तलब किया है या नहीं इसका अभी तक पता नहीं चल सका है।

एफबीआइ निदेशक जेम्स कोमी को 10 मई को बर्खास्त करने के बाद से ट्रंप सरकार इस मामले में बुरी तरह से घिर गई है। राष्ट्रपति शुरुआत से ही रूस से संबंध की बात को सिरे से खारिज करते रहे हैं। रूस ने भी आरोपों से इन्कार किया है।

जांच में सहयोग को तैयार कुश्नर

जेरेड कुश्नर जांच में सहयोग करने के लिए तैयार हैं। कुश्नर की कानूनी सलाहकार जेमी गोरलिक ने एक बयान में कहा, 'कुश्नर पूर्व में भी इन बैठकों के बारे में खुद ही संसद से जानकारी साझा कर चुके हैं। किसी भी तरह की जांच में अगर उनसे संपर्क साधा जाता है तो वह फिर से ऐसा करने को तैयार हैं।' लेकिन एफबीआइ और व्हाइट हाउस की ओर से इस मसले पर आधिकारिक बयान नहीं आया है।

यह भी पढ़ें: ट्रंप ने उत्तर कोरिया को दुनिया की समस्या बताया

Posted By: Manish Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस