मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लंदन, एएनआई। अंतर्राष्ट्रीय पुलिस संगठन (इंटरपोल) ने 173 इस्लामी राज्य के आतंकवादियों की एक सूची जारी की है। इंटरपोल का मानना ​​है ये आतंकी ईराक और सीरिया में मिली हार के बाद, प्रतिशोध लेने के लिए यूरोप में आतमघाती हमलों को अंजाम दे सकते हैं।

वैश्विक अपराध से लड़ने वाली एजेंसी ने ये सूची सीरिया और इराक के आईएसआईएस क्षेत्रों पर हमले के दौरान अमेरिकी इंटेलिजेंस से तैयार की गई है।

द गार्जियन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, यूरोपीय आतंकवाद विरोधी नेटवर्कों ने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि आईएसआईएस "खलीफा" के रूप में गिरने के बाद, यूरोप में आत्मघाती हमलावरों के आने का जोखिम बढ़ता जा रहा है।

यह सूची संदिग्धों के नामों को दिखाती है,वो किसी तारीख को आईएसआईएस में भर्ती हुए, उनका आखिरी संभावित पता जिस पर वे लड़ाई लड़ रहे थे, उनकी मां का नाम और इसके अलावा कोई भी तस्वीर जिससे उनकी पहचान में मदद मिल सके।

प्रत्येक आतंकी की पहचान सुनिश्चित करने के लिए एक आईडी बनाई गई है ताकि इंटरपोल नेटवर्क में प्रत्येक सदस्य देश, स्थानीय डाटाबेस के साथ डेटा को एकीकृत कर सकें।

एक यूरोपीय आतंकवाद निरोधक अधिकारी ने कहा कि यूरोप में सभी जगह सूची को परिचालित किया जा रहा है ताकि उन लोगों की पहचान की जा सके जो यूरोपीय देशों में पैदा हुए थे।

2015 में संयुक्त राष्ट्र का मानना ​​था कि इराक और सीरिया में 20,000 विदेशी सैनिक थे, जिनमें से 4,000 यूरोप से थे।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी ने दी सांसदों को "लाल बत्ती" की मानसिकता से भी दूर रहने की सलाह

यह भी पढ़ें: 'कृष्णा दौर' में कृष्ण बने रहना आसान नहीं, सियासत के फ्रेम में आडवाणी की तस्वीर

Posted By: Mohit Tanwar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप