इस्लामाबाद। पाकिस्तान में भारत के नए उच्चायुक्त टीसीए राघवन ने सोमवार को यहां कहा कि आतंकवाद के खतरे से निपटने के उपाय किए जाने चाहिए। पाकिस्तान के साथ भारत अच्छे और दोस्ताना संबंध चाहता है, लेकिन दोनों देशों के बीच आतंकवाद 2008 के मुंबई आतंकी हमले के समय से ही अड़चन बना हुआ है।

राघवन ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के अच्छे संबंध दोनों देशों की जनता के लिए लाभदायक हैं। उन्होंने मुंबई हमलों का जिक्र करते हुए कहा कि भारतीय अधिकारियों ने 26/11 के पाकिस्तानी साजिशकर्ताओं के खिलाफ तेजी से सुनवाई की मांग की है, लेकिन अब तक पाकिस्तान में न्याय की प्रक्रिया कछुए की चाल की तरह रही है। इससे पहले वाघा बॉर्डर पर पाकिस्तानी अधिकारियों ने राघवन और उनकी पत्नी का स्वागत किया।

राघवन करीब एक दशक पहले पाकिस्तान में उप उच्चायुक्त के तौर पर अपनी सेवाएं दे चुके हैं। वह शरत सभरवाल की जगह लेंगे जो पिछले साल ही सेवानिवृत्त हो हुए थे, लेकिन भारत सरकार ने उन्हे सेवा विस्तार दे रखा था। सभरवाल इस माह भारत लौट चुके हैं।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर