टोरंटो। कनाडा में रहने वाले भारतीय मूल के एक 16 वर्षीय किशोर ने दावा किया है कि उसका बनाया सर्च इंजन गूगल से 47 फीसद बेहतर नतीजे देता है। अनमोल तुकरेल नामक इस विद्यार्थी ने यह सर्च इंजन अपने हाई स्कूल के प्रोजेक्ट के तौर पर बनाया था। बाद में उसने इसे गूगल साइंस फेयर में भेजा।

अनमोल तुकरेल को इस सर्च इंजन का विचार पिछले वर्ष बेंगलुरु में एक कंपनी में इंटर्नशिप के दौरान आया। इस आधार पर उन्होंने गूगल के सर्च इंजन से आगे काम करना शुरू किया। तुकरेल के अनुसार अन्य सर्च इंजन जहां यूजर की लोकेशन और ब्राउजिंग के हिसाब से नतीजे बताते हैं, उसका सर्च इंजन यूजर की जरूरत के अनुसार सबसे सटीक सूचना उपलब्ध कराता है।

तुकरेल ने इस सर्च इंजन को बनाने के लिए एक कंप्यूटर, पायथन-लैंग्वेज का डेवेलपमेंट सिस्टम, एक स्प्रेडशीट प्रोग्राम और गूगल व न्यूयॉर्क टाइम्स की वेबसाइटों का प्रयोग किया। सर्च इंजन की सटीकता को परखने के लिए तुकरेल ने न्यूयॉर्क टाइम्स समाचार पत्र में सर्च इंजन पर इस साल छपे लेखों तक ही इसे सीमित रखा है।

अब पुरानी यादों को ताजा करेगा ‘गूगल फोटोज’

Posted By: Sudhir Jha