लंदन। दिल्ली गैंगरेप पर बनी विवादित डॉक्युमेंट्री 'इंडियाज डॉटर' की निर्माता लेस्ली उडविन ने इसे बैन करने के भारत सरकार के कदम की कड़ी आलोचना की है। लेस्ली उडविन ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि उनके उद्देश्य को 'देश पर उंगली उठाने' के रूप में गलत तरीके से पेश किया गया। उन्होंने कहा कि मेरा पूरा उद्देश्य भारत की सराहना करने के लिए उसका एक ऐसे देश के रूप में आभार प्रकट करना था, जिसने इस रेप पर अनुकरणीय प्रतिक्रिया दी थी।

लेस्ली उडविन ने कहा कि सबसे गलत बात यह है कि वे लोग अब मुझ पर यह आरोप लगा रहे हैं कि मैं भारत को अपमानित करना चाहती थी। यह वे ही लोग हैं जिन्होंने इस फिल्म को बैन कर अंतरराष्ट्रीय आत्महत्या की है। डृॉक्युमेंट्री की स्क्रीनिंग के बाद उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने इसके प्रसारण को प्रतिबंधित कर दिया और विडियो साझा करने वाली वेबसाइट यूट्यूब को डॉक्युमेंट्री के सारे लिंक हटाने को कहा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने 'बेटी बचाओ अभियान' की तरह के विचार ही इस फिल्म में देख सकेंगे।

उडविन ने कहा कि फिल्म वही बात कह रही है जो प्रधानमंत्री मोदी अपने 'बेटी बचाओ अभियान' में कह रहे हैं।गौरतलब है कि चलती बस में 23 साल की 'निर्भया' से रेप, प्रताड़ना और हत्या के आरोप में मौत की सजा का सामना कर रहे चार लोगों में शामिल मुकेश सिंह का डॉक्युमेंट्री में साक्षात्कार है।

पढ़ेंः ब्रिटिश फिल्मकार लेस्ली पर हो सकती है कार्रवाई