सैन फ्रांसिस्को। सर्च इंजन गूगल ने विश्व की लुप्त हो रही भाषाओं को नया जीवन देने का बीड़ा उठाया है।

इंटरनेट की यह सरताज कंपनी अब भाषाविदें की मदद से खत्म हो रही या खतरे में पड़ी भाषाओं पर विशेष वेबसाइट तैयार करेगा। गूगल लोगों को इन भाषाओं के बारे में जानकारी खोजने और साझा करने से लेकर इन्हें संरक्षित करने की सुविधा भी देगा।

गूगल ब्लॉग पोस्ट पर प्रोजेक्ट मैनेजर क्लारा रिवेरा रोड्रिग्ज और जेसन रिजमैन के अनुसार लोग इन भाषाओं के बारे में अपनी जानकारी, ज्ञान और अनुसंधान को सीधे तौर पर साइट पर साझा कर सकेंगे। साथ ही वह उस भाषा की विषय सामग्री को हमेशा अपडेट भी कर सकेंगे।

द्गठ्ठस्त्रड्डठ्ठद्दद्गह्मद्गस्त्रद्यड्डठ्ठद्दह्वड्डद्दद्गह्य.ष्श्रद्व वेबसाइट को इस लिहाज से तैयार किया गया है कि उपयोगकर्ता अपने वीडियो, ऑडियो या टेक्सट फाइल्स और उस भाषा के उच्चारण और खास जुमलों को याद करके रिकार्ड कर सकें। विभिन्न भाषाओं से संबंधित समूहों ने यह काम पहले ही शुरू कर दिया है। वे वेबसाइट पर 18वीं सदी तक की पांडुलिपियों को डालते जा रहे हैं। ये पांडुलिपियां वीडियो और ऑडियो के आधुनिक स्वरूप में साइट पर दर्ज हो रही हैं। यू-ट्यूब के जरिये गूगल की इस वेबसाइट पर एक वीडियो में बताया गया है कि विश्व में फिलहाल ज्ञात 7 हजार भाषाओं में से केवल आधी ही इस सदी के अंत तक अपना अस्तित्व बचाए रख पाएंगी।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर