पेरिस, एएफपी। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा लिए गए अनगिनत फैसलों से फ्रांस और जर्मनी चिंतित हैं। इन फैसलों में अमेरिका में शरणार्थियों पर लगाया गया प्रतिबंध भी शामिल है। फ्रांस के विदेश मंत्री जीन-मार्क एरोल्ट ने शनिवार को अमेरिकी राष्ट्रपति के हालिया आदेशों पर चिंता जाहिर की।

जर्मनी के नए विदेश मंत्री सिग्मर गाब्रिएल से मुलाकात के बाद एरोल्ट ने कहा, 'युद्ध से भाग रहे शरणार्थियों का स्वागत करना हमारा कर्तव्य है। यह तय करना होगा कि यह स्वच्छ और न्यायसंगत तरीके से हो।'

यह भी पढ़ें: मुस्लिम देशों पर अमेरिकी प्रतिबंध से बढ़ सकता है आतंकी संगठनों का हौसला

ट्रंप ने सात मुस्लिम बहुल देशों से शरणार्थियों के पुनर्वास कार्यक्रम को निलंबित कर दिया है। इन देशों के नागरिकों के प्रवेश पर भी नियंत्रण लगाया है।

एरोल्ट ने कहा कि यह फैसला चिंताजनक है। इसके अलावा और भी कई मुद्दे हैं जो हमारी चिंता का कारण बने हुए हैं। पत्रकारों के साथ बातचीत के दौरान जर्मनी के विदेश मंत्री भी उनके साथ थे। जर्मनी का विदेश मंत्री बनने के बाद गाब्रिएल अपने पहले विदेशी दौरे पर फ्रांस पहुंचे हैं।

यह भी पढ़ें: US में बैन हुई इन 7 मुस्लिम देशों की एंट्री, ट्रंप ने लगाई रिफ्यूजी प्रोगाम पर रोक

Posted By: Mohit Tanwar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस