बार्सिलोना (जेएनएन)। उत्‍तर पूर्व स्‍पेन में रविवार को पुलिस ने दो वाहनों से किए गए आतंकी हमले के आरोपी कट्टरपंथी सेल में से फरार 12 आतंकियों की खोज में सैंकड़ों जगहों पर सड़क जाम कर दिया।

जिस आतंकवादी सेल ने गुरुवार को स्पेन के कैटालोनिया में 14 लोगों की जान ली, असल में उसका मकसद बार्सिलोना में घातक आतंकी हमले का था। आतंकियों ने जिस घर में विस्फोटकों को जमा किया हुआ था, वहां गलती से धमाका हो गया और घर के साथ वहां रखे बम भी नष्ट हो गए। इस दुर्घटना के बाद आतंकियों को अपनी योजना बदलनी पड़ी। गुरुवार शाम बार्सिलोना के लास रामब्लास स्ट्रीट में एक सफेद रंग की फायट कार ने वहां मौजूद पैदलयात्रियों को कुचला और इस घटना में 13 लोगों की मौत हो गई। 130 से ज्यादा लोग भी घायल हुए। इन हमलों के सिलसिले में पुलिस ने अभी तक 4 लोगों को हिरासत में लिया है। इनमें से 3 मोरक्‍को के और एक स्पेन का नागरिक है। लास रामब्लास में हुए हमले के सिलसिले में पुलिस फिलहाल एक 22 वर्षीय युवक की तलाश कर रही है। माना जा रहा है कि जिस कार से इस हमले को अंजाम दिया गया, उसे यही युवक चला रहा था।

कैतलन पुलिस अधिकारी जोसेप लुईस त्रापेरो ने इस बात की पुष्‍टि करने से इंकार कर दिया कि 22 वर्षीय मोरक्‍को निवासी युनुस आबूयाकूब संदिग्‍ध ड्राइवर था जिसने बार्सिलोना में वैन के जरिए हमले को अंजाम दिया। इसके कुछ ही घंटों बाद कैंब्रिल्‍स में हमला हुआ था। त्रापेरो ने कहा, ‘हम इस पर काम कर रहे हैं, लेकिन ये नहीं जानते की वह कहां है।‘ अन्‍य पुलिस अधिकारी ने इस बात की पुष्‍टि की कि मामले की जांच के बाद पता चला है तीनों वैन अबूयाकूब के क्रेडिट कार्ड पर किराए पर ली गयी थी। जिसमें से एक लास रंबालस दूसरा रिपोल में जहां हमले के सभी संदिग्‍ध रहते थे और तीसरा विक में पाया गया। पुलिस का मानना है कि घटना को अंजाम देने वाले आतंकियों की योजना थी कि वैन को विस्‍फोटकों से भरकर कैटलन में घातक हमला किया जाएगा। त्रापेरो ने पुष्‍टि किया कि 100 से ज्‍यादा ब्‍यूटेन गैस के टैंक अल्‍कानार हाउस में थे जो विस्‍फोट कर गए साथ ही विस्‍फोटक टीएटीपी भी था जो पेरिस व ब्रूसेल्‍स में इस्‍लामिक स्‍टेट द्वारा उपयोग किया गया था।

बार्सिलोना के उत्तरी हिस्से में स्थित रिपोल कस्बे के एक मस्जिद के इमाम आब्देलबाकी एस सैती की भी तलाश की जा रही है जिस पर हमलावरों को कट्टरपंथी बनाने का संदेह है। संदिग्ध जिहादी समूह के कई सदस्य इसी कस्बे के रहने वाले थे। शनिवार को इमाम के घर पर छापेमारी भी की गई। जून से ही इमाम मस्जिद छोड़कर अचानक चला गया था और तब से दिखाई नहीं पड़ा। मीडिया और पुलिस के अनुसार, हो सकता है कि बुधवार की रात बार्सिलोना के दक्षिण में स्थित एल्कानार में हुए विस्फोट में सैती की मौत हो गई हो। इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने लास रैम्बलास में हुए आतंकवादी हमले की जिम्मेदारी ली है, लेकिन अभी यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि हमले को अंजाम देने वाले आतंकवादी सीधे तौर पर आईएस से जुड़े थे या सिर्फ उससे प्रभावित थे। मस्जिद की ओर से ने घातक हमलों की निंदा की गयी है और पीड़ित के परिजनों शनिवार को रिपल स्क्वायर में रैली निकाली, वे इस बात से इंकार कर रहे थे कि उन्‍हें अपने पुत्रों और भाइयों की कट्टरपंथी योजनाओं के बारे में कोई जानकारी थी। अबोयाकाउब की मां ने कहा कि उनके छोटे भाई हुसैन भी गायब हो गए हैं। बता दें कि शुक्रवार को कैंब्रिल्‍स हमले के दौरान पुलिस द्वारा मारे गए पांच कट्टरपंथियों में से एक उनका छोटा भाई था।

यह भी पढ़ें: बार्सिलोना के हमलावर के फ्रांस भागने का शक

Posted By: Monika minal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप