नई दिल्ली, प्रेट्र । पूर्व सेना प्रमुख जनरल (सेवानिवृत्त) विक्रम सिंह ने पाकिस्तान के नए सेना प्रमुख ले. जनरल कमर जावेद बाजवा के प्रति सावधान और सतर्क रहने की जरूरत बताई है। बाजवा कांगो में संयुक्त राष्ट्र (यूएन) शांति सेना में सिंह के अधीन काम कर चुके हैं।

सिंह ने बाजवा को पूरी तरह पेशेवर बताया। सिंह ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र के तहत शांति अभियान में व्यक्ति खूब मिलनसार होता है लेकिन जब वह अपने देश लौटता है तो चीजें बदल जाती हैं। ऐसा इसलिए कि उसके लिए राष्ट्रहित सबसे ऊपर होता है।

बाजवा के सेना प्रमुख बनने के बाद क्या पाकिस्तान की सैन्य नीति में बड़ा बदलाव आएगा, इस पर सिंह ने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि बदलाव होगा। पूर्व सेना प्रमुख ने उम्मीद जताई कि बाजवा भारत से ज्यादा घरेलू आतंकवाद के खतरे पर ध्यान देंगे। बाजवा ने ऐसा सार्वजनिक तौर पर कहा भी है। पाकिस्तान के नए सेना प्रमुख को नियंत्रण रेखा के मामले में व्यापक अनुभव है। उन्होंने भारत से लगी सीमा पर गुलाम कश्मीर और उत्तरी इलाकों में काम किया है। उन्हें दोनों तरफ की पहाड़ी और वहां की स्थिति की अच्छी जानकारी है।

पढ़ें- जानिए कौन है बाजवा, क्या है कश्मीर से कनेक्शन

Posted By: Atul Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस