टोक्यो (पीटीआई)। वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि चीन की अर्थव्यवस्था के नीचे जाने पर भारत उसकी भूमिका को निभाएगा। उन्होंने जापान में फ्यूचर ऑफ एशिया कांफ्रेंस के मौके पर कहा कि आज विश्व एक ऐसे देश की ओर देख रहा है जो अपने मजबूत कंधों पर इस भार को उठा सके, इसके लिए भारत पूरी तरह से तैयार है। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि चीन की गिरती अर्थव्यवस्था के चलते अब विश्व की निगाहें भारत के मजबूत कंधों पर टिकी हैं।

पाक पीएम नवाज शरीफ की ओपन हार्ट सर्जरी सफल, ICU में शिफट

केंद्र सरकार की नीतियों की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि भारत में एनडीए की सरकार बनने के बाद हर क्षेत्र में बड़े बदलाव आए हैं। फिर वह चाहे ढांचागत क्षेत्र की बात हो या अन्य क्षेत्रों की हमनें सभी क्षेत्रों में तरक्की की है। उन्होंने भारत को विश्व को आगे ले जाने के लिए एक पावरफुल ड्राइवर बताया। इस कांफ्रेंस को निक्की इंक ने आयोजित किया था।

विश्व के 10 सबसे अमीर देशों में शामिल हुआ भारत, कनाड़ा आस्ट्रेलिया को पछाड़ा

महज 18 दिनों में ब्राजील सरकार को दूसर बड़ा झटका, मंत्री ने दिया इस्तीफा

जेटली का कहना था कि चीन ने पिछले कुछ वर्षों में वैश्विक स्तर पर करीब पचास फीसद तक तरक्की की है। इसके बाद भी अब चीन की अर्थव्यवस्था मंदी के दौर या फिर गिरावट के दौर से गुजर रही है। जिस तेजी से चीन को आगे बढ़ना चाहिए था वह उसमें विफल रहा है। लेकिन इसके बाद भी वह दुनिया की बड़ी अर्थव्यवस्था है और इससे कोई भी इंकार नहीं कर सकता है। यही वजह है कि विश्व आज भारत की ओर देख रहा है। उनका कहना था कोई भी देश किसी की जगह नहीं ले सकता है। इसकी वजह है कि यह बेहद विस्तृत क्षेत्र है।

विश्व में सबसे तेजी से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था है भारत

उनका कहना है कि जहां दुनिया के कई बड़े देशों की अर्थव्यवस्था में तीन फीसद की गिरावट आई है वहीं एशिया अपनी विकास दर 6 फीसद रखने में कामयाब रहा है। हालांकि उन्होंने यह भी माना कि चीन की अर्थव्यवस्था में आई गिरावट का असर एशिया की अर्थव्यवस्था पर पड़ेगा।

Posted By: Kamal Verma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस