बीजिंग, प्रेट्र । वैश्विक आलोचना के बीच चीन ने मानवाधिकार रिकार्ड को सुधारने के लिए कदम उठाए हैं। सरकार ने मानवाधिकारों की रक्षा करने वाले कानूनों और जेलों की दशा में सुधार के लिए सोमवार को कई उपायों की घोषणा की है। इसके लिए श्वेत पत्र जारी किया गया है। श्वेत पत्र में मानवाधिकार के कानूनी गारंटी और सुधार के मकसद से कई उपाय पेश किए गए हैं।

'चीन में मानवाधिकारों की न्यायिक रक्षा में नई प्रगति' शीर्षक से जारी श्वेत पत्र में कहा गया है कि चीन ने आपराधिक कानून में सुधार किया है। इसके साथ ही विवादों के प्रभावी समाधान के लिए सिविल प्रक्रिया कानून में भी संशोधन किया गया है। इसके अलावा प्रशासनिक मुकदमों में कानूनी अधिकारों और निजी पार्टियों के हितों की रक्षा के लिए प्रशासनिक कानून में बदलाव किया गया है।

श्वेत पत्र में जेलों की खराब दशा सुधारने के साथ ही कैदियों के कानूनी अधिकारों और हितों की रक्षा के उपायों का जिक्र किया गया है। श्रमिक शिविरों की बदहाल स्थिति के सुधार के उपायों की भी घोषणा की गई है। माना जा रहा है कि जेलों और श्रमिक शिविरों की खराब दशा की हो रही आलोचना के समाधान के लिए ये कदम उठाए गए हैं।

पढ़ेंः भारत से रिश्तों में तल्खी खत्म करने को नेपाल तैयार

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस